HomeBiharसमाधान यात्रा: 4 डिग्री तापमान हो या 44, हम हमेशा घूमते रहते...

समाधान यात्रा: 4 डिग्री तापमान हो या 44, हम हमेशा घूमते रहते हैं; विरोधियों को नीतीश का जवाब

 

 

 

 

नीतीश ने कहा कि जो हो रहा है, वह ठीक है, लेकिन आगे और किया जाना जरूरी है। इसी को देखने और जानने के लिए हमलोग घूम रहे हैं। चाहे तापमान चार डिग्री सेल्सियस रहे या फिर 44 डिग्री, हम हमेशा घूमते रहते हैं।

 

 

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि महिलाओं के विकास से बिहार को एक नई गति मिली है। जीविका दीदियां बहुत अच्छा काम कर रही हैं, जिससे राज्य की तस्वीर बदली है। महिलाएं स्वावलंबी बनी हैं। आगे भी इनके विकास को लेकर कार्य किये जाएंगे। महिलाओं के उत्थान में किसी भी तरह की कोई कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

 

मुख्यमंत्री समाधान यात्रा के तहत सोमवार को सारण जिले में थे। वहां दरियापुर प्रखंड के भैरोपुर गांव पहुंचे सीएम ने कहा कि जीविका दीदियां आस-पास के लोगों को भी जागरूक कर रही हैं। लोगों में अब जागृति आ रही है। लड़कियों की अब 18 साल से कम उम्र में शादी नहीं हो रही है। उनके घर में खुशहाली आई है। इसके पहले सीएम उद्यमी योजना के तहत बनने वाली जूता फैक्ट्री का उन्होंने अवलोकन किया और जीविका दीदियों के उत्पाद को भी देखा। जीविका दीदियों ने उन्हें उत्पाद भेंट की।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सतत जीविकोपार्जन योजना के तहत 90 परिवारों को 12 लाख, 23 हजार 950 रुपये का चेक सौंपा। नीतीश ने कहा कि जो हो रहा है, वह ठीक है, लेकिन आगे और किया जाना जरूरी है। इसी को देखने और जानने के लिए हमलोग घूम रहे हैं। आगे के लिए जो कुछ भी करना जरूरी होगा उसे हमलोग जरूर करेंगे। उन्होंने कहा कि चाहे तापमान चार डिग्री सेल्सियस रहे या फिर 44 डिग्री, हम हमेशा घूमते रहते हैं।

 

15 अगस्त के पहले तैयार होगा मेडिकल कॉलेज
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दरियापुर के भैरोपुर गांव से छपरा आने पर सबसे पहले निर्माणाधीन राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल के कार्यों का जायजा लिया और 15 अगस्त  के पहले निर्माण कार्य पूरा करने का निर्देश दिया। कहा कि पढ़ाई के साथ-साथ छात्र-छात्राओं के लिए खेलकूद की भी व्यवस्था करें। कहा कि कॉलेज के लिए प्रोफेसर व कर्मियों की बहाली होगी। कहा कि सभी जिलों में मेडिकल कॉलेज के निर्माण की योजना है, लेकिन अभी जितने जिले के लिये तय किए गए हैं, उन्हें पहले पूरा करना है। हमलोग चाहते हैं कि कम-से-कम एक-दो छोटे-छोटे जिलों को मिलाकर भी एक मेडिकल कॉलेज का निर्माण कराया जाए, ताकि लोगों के इलाज में सुविधा हो। सीएम के साथ उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, वित्तमंत्री विजय कुमार चौधरी, जल संसाधन मंत्री संजय झा, विज्ञान व प्रौद्योगिकी मंत्री सुमित कुमार सिंह, कला व खेल मंत्री जीतेन्द्र कुमार राय, श्रम मंत्री सुरेन्द्र राम भी मौजूद थे।

स्कूलों में जाएं जीविका दीदी, शिक्षकों के पढ़ाने की करें पड़ताल
छपरा में सीएम ने ऑडिटोरियम में जीविका दीदियों से संवाद भी किया। कहा कि जीविका दीदी बहुत अच्छा काम कर रही हैं। जिस प्रकार से हमलोगों ने जीविका समूह का गठन किया, उसका लाभ सबको मिल रहा है। सीएम ने कहा कि जीविका दीदी स्कूलों में जाएं और देखें कि शिक्षक पढ़ा रहे हैं कि नहीं। शिक्षक पढ़ाएंगे तो उनकी बहाली भी करेंगे व सुविधाओं का ध्यान भी रखेंगे। जीविका दीदी लड़कियों को पढ़ने के लिए जागरूक करें। यही कारण है कि जागरूकता की वजह से बिहार की प्रजनन दर में कमी आई है।

 

बालिका प्रोत्साहन राशि का एक भी मामला लंबित न रहे,
सीएम ने कलेक्ट्रेट सभागार में सभी विभागों के वरीय अफसरों के साथ समीक्षा बैठक की। विकास योजनाओं के बारे में जानकारी ली। कहा कि बालिका प्रोत्साहन राशि का एक भी मामला लंबित न रहे, इसका सभी को ध्यान रखना होगा। कई मामले उनके संज्ञान में भी आते हैं। इसलिए इस पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। अल्पसंख्यक व अनुसूचित जाति-जनजाति छात्रावास में शत-प्रतिशत नामांकन सुनश्चिति करने पर भी जोर दिया। उन्होंने सीएम उद्यमी योजना के लक्ष्य को भी प्राप्त करने को कहा।

 

उपमुख्यमंत्री लोगों से ले रहे थे फीडबैक
समाधान यात्रा में उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव भी पहुंचे थे। वे कला संस्कृति मंत्री जीतेन्द्र राय, श्रम संसाधन मंत्री सुरेंद्र राम व स्थानीय विधायक छोटेलाल राय के साथ लोगों से फीडबैक ले रहे थे। उन्होंने खासकर पार्टी कार्यकर्ताओं व युवाओं से बात की और विकास कार्यों की जानकारी ली। तेजस्वी यादव काफी खुश दिखे।

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular