HomeEntertainmentरोंगटे खड़े कर देते हैं देशभक्ति से लबरेज फिल्मों के ये सीन,...

रोंगटे खड़े कर देते हैं देशभक्ति से लबरेज फिल्मों के ये सीन, आखिरी वाले ने तो बहुत रुलाया

 

75th independence day: आमिर खान की फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ भले ही खास कमाल ना कर पाई हो लेकिन उनकी फिल्म ‘दंगल’ को जबरदस्त रिस्पॉन्स मिला था। इसे देशभक्ति पर बनी सबसे कामयाब फिल्मों में गिना जाता है।

भारत आज आजादी की 75वीं वर्षगांठ मना कर रहा है। भारतीय सिनेमा का लोगों में देशभक्ति का जज्बा जगाने और वीरों की सच्ची कहानियां सुनाने में बहुत खास योगदान रहा है। कुछ फिल्मों के सीन तो ऐसे हैं जो हमेशा के लिए यादगार हैं और हम आम जिंदगी में भी उनके डायलॉग बोलते रहते हैं। आइए जानते हैं रोंगटे खड़े कर देने वाले ऐसे ही कुछ सीन्स के बारे में।

सनी देओल का ‘बॉर्डर’ में टैंक उड़ाना
फिल्म ‘बॉर्डर’ देशभक्ति से लबरेज वो फिल्म है जो हमेशा यादगार रहेगी। फिल्म का वो सीन जब एयरफोर्स से मदद का इंतजार कर रहे सनी देओल युद्ध जीतने की आखिरी कोशिश करते हैं और एंटी टैंक रॉकेट लॉन्चर का इस्तेमाल करते हैं, रोंगटे खड़े कर देने वाला है। भारत माता की जय बोलकर सनी देओल एक के बाद एक टैंक उड़ाते चले जाते हैं।

‘रंद दे बसंती’ का वो कैंडल मार्च
फिल्म ‘रंग दे बसंती’ में आर माधवन का सिर्फ 8 मिनट का रोल था लेकिन कहानी में उनके किरदार ने एक नई जान फूंकी थी। फ्लाइट लेफ्टिनेंट अजय सिंह राठौर की क्रैश में हुई मौत के बाद उनकी मंगेतर अपने दोस्तों के साथ इंडिया गेट तक कैंडिल मार्च निकालती है। बैकग्राउंड में बजता गाना ‘खून चला’ दर्शकों के रोंगटे खड़े कर गया था।

‘दंगल’ में गीता फोगाट का जीतना
आमिर खान की फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ भले ही खास कमाल ना कर पाई हो लेकिन उनकी फिल्म ‘दंगल’ को जबरदस्त रिस्पॉन्स मिला था। फिल्म की कहानी में आमिर खान ने बेहद सख्त पिता महावीर सिंह फोगाट का रोल प्ले किया था जिसे  Commonwealth Games में एक कमरे में लॉक कर दिया जाता है लेकिन वह किसी तरह वहां से निकल जाता है और अपनी बेटी की जीत देखता है। गीता फोगाट अपने पिता द्वारा दी गई टिप्स को याद रखती है और ये सीन दर्शकों को सीटों से उठ खड़े होने को मजबूर कर गया था।

‘चक दे इंडिया’ में टीम का वर्ल्ड कप जीतना
शाहरुख खान ने अपने अभी तक के करियर में गिनी चुनी ही देशभक्ति वाली फिल्में की हैं जिनमें ‘चक दे इंडिया’ भी शुमार है। फिल्म का क्लाइमैक्स सीन दर्शक कभी नहीं भूल सकते जब भारतीय महिला क्रिकेट टीम वर्ल्ड कप जीतती है और इस जीत को अपनी आन-बान बना चुके कोच कबीर खान की आंखें भर आती हैं।

‘शेरशाह’ में कैप्टन विक्रम बत्रा की शहादत
फिल्म ‘शेरशाह’ कैप्टन विक्रम बत्रा की कहानी पर आधारित थी। देशभक्ति से लबरेज ये कहानी एक बेहद खूबसूरत लव स्टोरी भी थी। फिल्म के क्लाइमैक्स सीन में जब अपने साथियों को बचाने और जंग जीतने की कोशिश में विक्रम बत्रा को शहीद होते हुए दिखाया जाता है तो इस सीन ने दर्शकों की आंखें नम कर दी थीं।

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular