HomeBiharमुजफ्फरपुर में आधी रात घरों पर बरसते ईंट-पत्थर: मोहल्लेवासियों में दहशत का...

मुजफ्फरपुर में आधी रात घरों पर बरसते ईंट-पत्थर: मोहल्लेवासियों में दहशत का माहौल, घर छोड़ सुरक्षित जगह पलायन करने की सोच रहे लोग

 

 

मुजफ्फरपुर शहर स्थित रामबाग मोहल्ले में एक अजीबोगरीब घटना सामने आई है। 20 दिनों से इस मोहल्ले में पत्थरबाजी हो रही है। जिससे मोहल्ले के लोग दहशत में है। इस मोहल्ले में रात 12:00 बजे से लेकर सुबह के 4:00 बजे तक खूब पत्थर बरसाए जाते हैं। लोग इतने भयभीत हैं कि घर छोड़ सुरक्षित जगह पलायन करने की सोच रहे हैं। पथराव में कई लोग गंभीर रूप से घायल भी हो गए। मोहल्ले के लोग रात भर जग कर रहते हैं। उन्हें यह समझ में नहीं आ रहा है कि पत्थर आसमान से गिरते हैं। या इंसान के द्वारा पत्थरबाजी की जाती है।

 

इस पत्थरबाजी से सबसे ज्यादा किसी को नुकसान है। तो वो मोहल्ले की रहने वाली है लालपरी देवी है। जिसके घर पर सबसे ज्यादा ईंट पत्थर फेंके गए हैं। मोहल्लेवासी के साथ-साथ पुलिस भी इस घटना से परेशान है। पुलिस ने कई बार रामबाग साउथ कॉलोनी में जाकर जांच की लेकिन कोई दिखा ही नहीं। पुलिस भी चिंतित है कि आखिर पत्थर फेंक कौन रहा है और कहां से?

चेहरे पर दिख रहा खौफ का साया

भास्कर की टीम ने उस मोहल्ले में पहुंचकर इस मामले को समझने की कोशिश की। लालपरी देवी से इसके सम्बन्ध में जानकारी ली। उन्होंने बताया कि आजतक कभी ऐसा नहीं हुआ। पिछले 20 दिनों से लगातार आधी रात से आसमान से ईंट-पत्थर बरसने लगता है। उनके आंगन में बड़े-बड़े ईंट-पत्थर बिछे हुए थे। एस्बेस्टस जगह-जगह से ईंट लगने से टूट चुका था। कहती हैं पिछले 45 वर्ष से यहां घर बनाकर रहती है। किसी से कोई विवाद भी नहीं है। पता नहीं कहाँ से पत्थर फेंके जा रहे हैं।

 

रतजगा कर करते निगरानी

स्थानीय ममता देवी ने बताया कि सिर्फ लालपरी देवी ही इस घटना की शिकार नहीं हुई है। बल्कि इस मोहल्ले के करीब-करीब घरों पर पथराव किया जा रहा है। लोग अब रतजगा करते हैं। छत पर रहते हैं कि कहीं से कुछ दिख जाए और ये गुत्थी सुलझ सके। लेकिन, पथराव रात के अंधेरे में होता है। कहाँ से पत्थर आता है ये किसी को नहीं दिखता।

 

मदद करने वाले भी टारगेट पर

स्थानीय मनोज महतो ने बताया कि वे भी दो-तीन रातों से जागकर लालपरी के घर मे रहकर ये जानने की कोशिश कर रहे हैं कि आखिर कौन पथराव कर रहा है। इसका नतीजा ये हुआ कि उनके घर पर दिनदहाड़े ईंट पत्थर फेंके जाने लगे। शोर मचाते हुए चारों तरफ खोजा। मोहल्लेवासियों ने भी खोजबीन की। लेकिन, कहीं कुछ नहीं दिखा।

 

रहस्य बनता जा रहा पथराव

स्थानीय चंद्रकांती सिंह बताती है कि अब ये रहस्य गहराता जा रहा है। पुलिस ने भी हाथ खड़े कर दिए हैं। कहा गया कि आपलोग पकड़ कर दीजिए। तब हम आगे की कार्रवाई करेंगे। मिठनपुरा पुलिस दो रात गश्त करने आई थी। पर कुछ हाथ नहीं लगा। पुलिस के आने के बाद भी लगातार घरों पर ईंट पत्थर फेंके ना रहे हैं।

 

कहीं भूमाफियाओं की नजर तो नहीं

इस तरह की घटना को लेकर कई तरह की चर्चाएं हो रही है। कुछ लोग कहते हैं की ये असामाजिक तत्वों का काम है। कुछ का कहना है कि हो सकता है कि भूमाफियाओं की नजर इस मोहल्ले की जमीन पर टिक गई हो। वे लोग इस तरह के हथकंडे अपना रहे हों। घरवालों को डरा कर यहां से भगा दें और बाद में उन्हें जमीन मकान म सौदा औने पौने दाम में कर लें। हालांकि मोहल्ले के लोग अभी भी पुलिस से उम्मीद लगाए बैठे हैं।

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular