HomeBiharसुधाकर सिंह पर भड़की JDU तो लाइन पर आ गए तेजस्वी- नीतीश...

सुधाकर सिंह पर भड़की JDU तो लाइन पर आ गए तेजस्वी- नीतीश के खिलाफ बोलना BJP के एजेंडे पर चलने जैसा

 

 

Bihar Politics RJD JDU Tension: डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने मंगलवार को मीडिया से बातचीत में सुधाकर सिंह को चेतावनी देते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई के संकेत दिए हैं।

 

Bihar Politics RJD JDU Tension: सुधाकर सिंह द्वारा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ की गई बयानबाजी से आरजेडी-जेडीयू में तकरार हो रखी है। इस मुद्दे पर जेडीयू के बढ़ते दबाव के बाद डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने बिहार के पूर्व कृषि मंत्री सुधाकर सिंह के खिलाफ ऐक्शन लेने के संकेत दिए हैं। उन्होंने साफ-साफ कहा है कि नीतीश कुमार के नेतृत्व पर सवाल उठाना, बीजेपी की नीतियों को समर्थन करने जैसा है। महागठबंधन सरकार या फिर नेतृत्व के बारे में कोई भी बयानबाजी करने का हक केवल आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव और खुद उनके पास है। इसके अलावा पार्टी का कोई भी नेता महागठबंधन या सरकार के खिलाफ सवाल नहीं उठा सकता है।

 

डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने मंगलवार को दिल्ली में मीडिया से बातचीत में सुधाकर सिंह को चेतावनी देते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई के संकेत दिए। उन्होंने कहा कि आरजेडी नेतृत्व सुधाकर सिंह की बयानबाजी को गंभीरता से देख रहा है। बिहार में महागठबंधन बीजेपी के खिलाफ बना है। एक बात स्पष्ट हो जानी चाहिए कि महागठबंधन का नेतृत्व नीतीश कुमार कर रहे हैं। नीतीश कुमार के खिलाफ अगर कोई टिप्पणी करता है तो ये साफ है कि वह भाजपा के एजेंडे पर काम कर रहा है। इसमें कोई शक नहीं होना चाहिए।

 

तेजस्वी ने कहा कि दिल्ली में आरजेडी के खुला अधिवेशन में प्रस्ताव पारित हुआ था। उसके मुताबिक महागठबंधन या नेतृत्व के खिलाफ लालू और मेरे अलावा कोई टिप्पणी नहीं करेगा। हमने तो साफ कर दिया है कि कोई नीतीश कुमार के खिलाफ बयान देता है तो वह बीजेपी की नीतियों का समर्थन कर रहा है। तेजस्वी ने कहा कि बीजेपी डरी हुई है। बीजेपी के बड़े मोहरे हैं और वह क्या-क्या कर सकती है ये सबको पता है।

 

तेजस्वी यादव ने आगे कहा कि लालू यादव अभी बीमार हैं और आराम कर रहे हैं। मगर वह सभी राजनीतिक घटनाक्रम को देख रहे हैं। इस मुद्दे को भी वे देख रहे हैं। माना जा रहा है कि लालू यादव के पूरी तरह स्वस्थ होकर लौटने के बाद सुधाकर सिंह के खिलाफ कड़ा ऐक्शन लिया जा सकता है।

 

बता दें कि सुधाकर सिंह आरजेडी प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के बेटे हैं। महागठबंधन सरकार में कृषि मंत्री रहते हुए सुधाकर ने कई बार नीतीश कुमार पर सवाल उठाए, जिसके बाद उन्हें कैबिनेट से इस्तीफा देना पड़ा था। इसके बाद जगदानंद भी पार्टी से नाराज हो गए थे, हालांकि उन्हें बाद में मना लिया गया। हाल ही में जेडीयू ने सुधाकर सिंह पर लगाम लगाने या फिर ऐक्शन लेने का दबाव बनाया, जिसके बाद बिहार की राजनीति गर्माई हुई है।

 

जेडीयू ने आरजेडी पर दबाव बनाया

दरअसल, सुधाकर सिंह ने कई मुद्दों पर नीतीश सरकार पर सवाल उठाए। इससे नाराज होकर जेडीयू ने आरजेडी को सुधाकर पर लगाम लगाने के लिए कहा। जेडीयू एमएलसी संजय सिंह ने सोमवार को कहा कि सुधाकर को बीजेपी ने ट्रैप कर लिया है। वे बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ चुके हैं। सुशील कुमार से उनकी नजदीकियां भी जगजाहिर है। साथ ही जेडीयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने भी कहा कि तेजस्वी यादव को सुधाकर सिंह की बयानबाजी पर लगाम लगानी चाहिए, या फिर कोई कार्रवाई करनी चाहिए।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular