HomeBiharमुजफ्फरपुर के कुढ़नी में राइस मिल का बॉयलर फटा, 6 लोग झुलसे;...

मुजफ्फरपुर के कुढ़नी में राइस मिल का बॉयलर फटा, 6 लोग झुलसे; 3 गंभीर

 

 

मुजफ्फरपुर जिले के बेला इंडस्ट्रियल एरिया में बीते साल 25 दिसंबर को भी अंशुल स्नैक्स एंड बेवरेज कंपनी की फैक्ट्री में बॉयलर फटा था। इसकी चपेट में आकर सात लोगों की मौत हो गई थी।

 

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में कुढ़नी थाना इलाके के चंद्रहठी गांव में गुरुवार शाम करीब चार बजे राइस मिल का बॉयलर फट गया। राइस मिल में काम कर रहे आधा दर्जन मजदूर गर्म पानी और भाप से झुलस गए। इनमें मिल मालिक बताए जा रहे सकिंदर सिंह समेत तीन की हालत गंभीर है। इनको एसकेएमसीएच के बर्न वार्ड में भर्ती कराया गया है। बॉयलर में विस्फोट के बाद अफरातफरी मच गई। काम कर रहे अन्य मजदूर राइस मिल से निकलकर भागे।

 

पड़ोस के दो घरों में भी विस्फोट से नुकसान पहुंचा है। एक महिला भी घायल हो गई है। घटना के बाद कुढ़नी थानेदार, सीओ, जिला मुख्यालय से आपदा विभाग और फैक्ट्री नियंत्रक की टीम मौके पर जांच के लिए पहुंची। मिल प्रबंधन ने गंभीर रूप घायलों को एसकेएमसीएच में भर्ती कराया है। इनमें माधोपुर कपूर गांव का 26 वर्षीय अमरजीत कुमार, 20 वर्षीय मिथलेश कुमार और 45 वर्षीय सकिंदर सिंह शामिल है।

 

आंशिक रूप से झुलसे तीन मजदूरों का स्थानीय स्तर पर इलाज चल रहा है। बताया गया कि तीन पार्टनर ने मिलकर राइस मिल खोल रखी है। एसएसपी जयंतकांत ने बताया कि घटना की पूरी जानकारी ली जा रही है। गर्म पानी और भांप से झुलसे तीन गंभीर लोगों का एसकेएमसीएच में इलाज चल रहा है।

 

मजदूर की मौत हुई तो लगेगी हत्या की धारा

एसएसपी जयंतकांत ने बताया कि राइस मिल का फैक्ट्री नियंत्रक से लाइसेंस लेना अनिवार्य है। यदि कोई वैध लाइसेंस नहीं मिला और विस्फोट में झुलसे मजदूर की मौत हो जाती है तो फैक्ट्री संचालकों पर हत्या की धारा में एफआईआर दर्ज होगी। फिलहाल, गैर इरादतन हत्या की धारा 308 व जानबूझकर खतरनाक तरीके से फैक्टी लगाने की अन्य धाराओं में एफआईआर दर्ज करने का निर्देश दिया गया है।

 

एक किमी दूर तक सुनी गई धमाके की आवाज

स्थानीय लोगों ने बताया कि मिल में धान से चावल उत्पादन का काम चल रहा था। ईंट व कंक्रीट में लोहे की चादर की भत्री बैठाई गई थी जिसमें प्रेशर से धान उबाला जा रहा था। बॉयलर में कोई प्रेशर मीटर भी नहीं था। वाल्व आदि की जानकारी भी स्थानीय लोगों को नहीं थी। विस्फोट की आवाज एक किलोमीटर दूर तक सुनाई दी। मिल की दीवार धराशायी हो गई। 90 प्रतिशत झुलस चुके दो मजदूर और मिल मालिक बेहोश पड़े थे। बगल के दो घर की खिड़की व वेंटिलेटर तक धमाके से टूट गए।

 

जांच में नहीं मिला लाइसेंस

कुढ़नी सीओ पंकज कुमार ने बताया कि राइस मिल का बॉयलर लोकल स्तर पर बना था। राइस मिल को लाइसेंस नहीं मिला है। प्रारंभिक स्तर पर जांच में कोई सामने नहीं आया। आसपास में तीन अन्य राइस मिल को देखा गया है। हालांकि, विस्फोट के बाद ताला लगाकर संचालक हट चुके थे।

 

 

बेला में बॉयलर फटने से सात लोगों की हुई थी मौत

मुजफ्फरपुर जिले के बेला इंडस्ट्रियल एरिया में बीते साल 25 दिसंबर को अंशुल स्नैक्स एंड बेवरेज कंपनी की फैक्ट्री में बॉयलर फटा था। इसकी चपेट में आकर सात लोगों की मौत हो गई थी। फैक्ट्री मालिक सहित सात के खिलाफ एफआईआर हुई थी।

 

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular