HomeBiharहाजीपुर-मुजफ्फरपुर हाइवे पर ऑयल टैंकर में ब्लास्ट, 3 की मौत

हाजीपुर-मुजफ्फरपुर हाइवे पर ऑयल टैंकर में ब्लास्ट, 3 की मौत

 

 

बिहार के हाजीपुर-मुजफ्फरपुर हाईवे 22 पर आयल टैंकर में वेल्डिंग के दौरान हुए ब्लास्ट में 3 लोगों की मौत हो गई। हादसे में ड्राइवर, खलासी और वेल्डर की मौत हो गई। एक अन्य व्यक्ति के गंभीर रूप से घायल हो

बिहार के हाजीपुर-मुजफ्फरपुर नेशनल हाईवे 22 पर ऑयल टैंकर में वेल्डिंग के दौरान ब्लास्ट से 3 लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में  ड्राइवर, खलासी और वेल्डिंग वर्कर शामिल है। मौके पर मौजूद 1 अन्य गंभीर रूप से घायल हो गया है और अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उनकी स्थिति गंभीर बनी हुई है। बताया जा रहा है कि बुधवार सुबह 11 बजे के करीब हाईवे से कुछ दूरी पर स्थित दुकान पर भारत  पेट्रोलियम के खाली टैंकर में वेल्डिंग का काम किया जा रहा था। वेल्डिंग के दौरान खाली टैंकर में बने ऑयल गैस और टैंकर में नमी में चिपके पेट्रोलियम के चलते हादसा हुआ है।

मृतकों की पहचान वेल्डिंग दुकानदार हाजीपुर के बेलवर गांव निवासी गिरधारी सहनी का 48 वर्षीय पुत्र वकील सहनी, टैंकर ड्राइवर पटना जिले के दनियांवा थाना क्षेत्र के गोरारी गांव निवासी सुरेश यादव का 48 वर्षीय पुत्र रंजीत यादव एवं खलासी सिवान जिले के विनोद चौधरी के 40 वर्षीय पुत्र अर्जुन कुमार के रूप में की गयी है। वहीं जख्मी गोरौल थाना क्षेत्र के इस्लामपुर गांव निवासी कौशल कुमार को सदर अस्पताल हाजीपुर रेफर किया गया है।

 

घटनास्थल पर प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि गोढियां चौक पर मृतक का वेल्डिंग दुकान चलाता था। इसी दुकान पर वेल्डिंग कराने भारत पेट्रालियम का खाली टैंकर संख्या- बीआर 01जीएच- 8913 के चालक एवं खलासी लेकर आए थे। बेल्ड़िंग करने के लिए तीनों टैंकर के ऊपर चढ़कर बेल्ड़िंग कर एवं करा रहा था कि इसी दौरान टंकी में भारी विस्फोट हुआ। विस्फोट इतना जोरदार था कि मृतक चालक लगभग 30 फिट दूरी एवं लगभग 30 फिट ऊंचाई पर दीवार से टकराकर नीचे गिरा जिससे शव क्षत विक्षत हो गया। वहीं टंकी का अवशेष लगभग 30 फिट तक इधर उधर बिखर गया।

 

घटना के बाद सैंकड़ों की संख्या में ग्रामीण जुट गए और शव को सड़क पर रखकर टायर जलाकर सड़क को जाम कर दिया और मुआवजे की मांग करने लगे। विरोध प्रदर्शन इतना जोरदार था कि एसएसपी मजफ्फरपुर एवं एएसपी रक्सौल को भी घटनास्थल पर पहुंचना पड़ा। घटना की सूचना मिलते ही अंचलाधिकारी ब्रजेश कुमार पाटिल, थानाध्यक्ष संजीव कुमार, अवर निरीक्षक विदुर कुमार, सहायक अवर निरीक्षक सुनील कुमार सिंह, संजय सिंह,जिन्ना खान सहित कई थाने के पुलिस बल घटनास्थल पर पहुंचकर शव को अपने कब्जे में लेने का प्रयास करने लगे लेकिन उपद्रवियों ने कई बार पुलिस पदाधिकारी को खदेड़ दिया। समाचार लिखे जाने तक शव को पुलिस द्वारा कब्जे में नहीं लिया गया था और न ही जाम ही छूट पाया था।

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular