HomeBiharलालू की नयी टीम: 4 उपाध्यक्ष, 1 प्रधान महासचिव, 10 महासचिव, 12...

लालू की नयी टीम: 4 उपाध्यक्ष, 1 प्रधान महासचिव, 10 महासचिव, 12 सचिव; ये हैं टीम में शामिल चेहरे

 

 

लालू यादव ने अपनी नयी टीम की घोषणा को सिंगापुर जाने से ठीक पहले की। लालू प्रसाद की टीम में 27 लोगों को शामिल किया गया है। इनमें 4 उपाध्यक्ष, 1 प्रधान महासचिव, 10 महासचिव, 12 सचिव बनाया गया है।

 

बिहार राजनीति से जुड़ी एक बड़ी खबर है। सिंगापुर रवाना होने से पहले राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने अपनी टीम का ऐलान कर दिया। हालांकि उन्होंने बीती रात ही अपनी टीम तैयार कर ली थी, लेकिन उसकी घोषणा उन्होंने शुक्रवार को सिंगापुर जाने से ठीक पहले की। लालू प्रसाद की टीम में 27 लोगों को शामिल किया गया है। इनमें 4 उपाध्यक्ष, 1 प्रधान महासचिव,  10 महासचिव, 12 सचिव बनाया गया है। इसके अलावा एक कोषाध्यक्ष भी हैं। राष्ट्रीय पदाधिकारियों में 10 यादव और 3 मुसलमानों को जगह मिली है।

 

अब्दुल बारी सिद्दीकी प्रधान महासचिव

पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, पूर्व मंत्री शिवानंद तिवारी, विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी और पूर्व केंद्रीय मंत्री देवेंद्र प्रसाद यादव को उपाध्यक्ष बनाया गया है। अब्दुल बारी सिद्दीकी को प्रधान महासचिव की जिम्मेवारी सौंपी गयी है। इस पद पर आते ही उनके प्रदेश अध्यक्ष बनने की अटकलों पर पूर्ण विराम लग गया है। उनके साथ 10 नेताओं को राष्ट्रीय महासचिव बनाया गया है। इनमें जयप्रकाश नारायण यादव, कांति सिंह, श्याम रजक, भोला यादव, नीतीश सरकार में राजद के मंत्री ललित कुमार यादव और कुमार सर्वजीत के अलावा सुखदेव पासवान, सैयद फैसल अली,  सुशीला मोराले और अलख निरंजन सिंह उर्फ बीनू यादव का नाम शामिल है।

 

 

कार्तिक मास्टर राष्ट्रीय सचिव

लालू प्रसाद ने 12 राष्ट्रीय सचिव भी बनाए हैं। इनमें पूर्व मंत्री कार्तिक मास्टर,  विधायक भरत बिंद, भरत भूषण मंडल, संगीता कुमारी, यदुवंश कुमार यादव, घूरन राम, डॉ. लाल रत्नाकर, विजय वर्मा, मो. सत्तार,  संतोष कुमार जायसवाल, आनंद नायडू और संजय ठाकुर शामिल हैं। विधानपार्षद सुनील कुमार सिंह को कोषाध्यक्ष बनाया गया है।

जगदानंद बने रहेंगे प्रदेश अध्यक्ष

लालू प्रसाद से मुलाकात के बाद यह भी तय हो गया कि जगदानंद सिंह प्रदेश अध्यक्ष की कमान संभालते रहेंगे। प्रदेश अध्यक्ष को लेकर चर्चा में आए अब्दुल बारी सिद्दिकी को प्रधान महासचिव की जिम्मेवारी सौंपे जाने के बाद यह और स्पष्ट हो गया। हालांकि पार्टी प्रवक्ता चित्तरंजन गगन ने जगदानंद सिंह के नाराज होने की अटकलों को बेबुनियाद और काल्पनिक बताया। कहा कि अस्वस्थता की वजह से वे पिछले कुछ दिनों से पार्टी कार्यालय नहीं आ रहे हैं। पर समय-समय पर दूरभाष से वे पार्टी पदाधिकारियों को दिशा निर्देश देते रहे हैं। आवश्यकतानुसार पार्टी पदाधिकारी भी उनका मार्गदर्शन लेते रहे हैं। जहां तक दिल्ली जाने‌ का सवाल है तो इसके पीछे कोई राजनीतिक निहितार्थ नहीं था। राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद के इलाज के लिए सिंगापुर जाने के पहले शिष्टाचार मुलाकात की थी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular