HomeBiharकौन जीतेगा कुढ़नी ? जेडीयू या बीजेपी ? केदार गुप्ता और मनोज...

कौन जीतेगा कुढ़नी ? जेडीयू या बीजेपी ? केदार गुप्ता और मनोज कुशवाहा की किस्मत का फैसला कल

 

 

कुढ़नी में किसरे सर सजेगा जीत का सेहरा? इसका फैसला कल यानी आठ दिसंबर गुरुवार को दोपहर लगभग दो बजे तक हो जाएगा। वैसे  तो इस सीट पर मुख्य मुकाबला जेडीयू (महागठबंधन) और  बीजेपी के बीच है।

 

Kurhani By Election Result 2022: कुढ़नी में किसरे सर सजेगा जीत का सेहरा? इसका फैसला कल यानी आठ दिसंबर गुरुवार को दोपहर लगभग दो बजे तक हो जाएगा। वैसे तो इस सीट पर मुख्य मुकाबला जेडीयू उम्मीदवार मनोज कुशवाहा और बीजेपी प्रत्याशी केदार गुप्ता के बीच है। लेकिन  VIP और AIMIM की प्रतिष्ठा भी दांव पर लगी हुई है।

 

कुढ़नी विधान सभा उपचुनाव का परिणाम मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के लिए बेहद अहम माना जा रहा है। इसका कारण यह है कि ये सीट जदयू ने राजद से मांग कर लड़ी है, वो भी ऐसे समय में जब ये सीट राजद के पास थी। यही वजह है कि जदयू के लिए ये सीट महागठबंधन से ज्यादा जदयू के लिए प्रतिष्ठा की सीट बन गई है।

 

जदयू के तमाम कद्वावर नेताओं ने कुढ़नी में जीत के लिए दिन रात मेहनत की। जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने कुढ़नी में कैंप किया था। वहीं चुनाव प्रचार के आखिरी दिन महागठबंधन के तमाम बड़े नेता भी कुढ़नी में मौजूद थे। गोपालगंज और मोकामा में हाल ही में हुए उपचुनाव में बीजेपी और राजद ने अपन-अपनीसीट बचा ली थी। अब जदयू के सामने चुनौती है कि वो कुढ़नी सीट कैसे बचाती है।

 

वहीं दूसरी ओ कुढ़नी उपचुनाव का रिजल्ट ये तय भी करेगा कि मुकेश सहनी का जादू सहनी वोटर पर कितना है, जो ये दावा करते हैं कि सहनी समाज वहीं वोट देता है जिधर VIP के उम्मीदवार खड़े होते हैं या समर्थन देती है। एआईएमआईएम की तरफ से भी कुछ ऐसा ही दावा किया जा रहा है, जिसने गोपालगंज उपचुनाव में अपनी ताकत दिखाई थी और इसकी वजह से राजद उम्मीदवार की हार हो गई थी। अब मुस्लिम वोटरों पर उसकी पकड़ उतनी ही मजबूत है या गोपालगंज में कुछ स्थानीय फैक्टर की वजह से वोट मिले थे, इस पर से भी तस्वीर साफ हो जाएगी।

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular