HomeBiharबिहार में खाद पर घमासान, बीजेपी बोली- केंद्र से मिला यूरिया नेपाल...

बिहार में खाद पर घमासान, बीजेपी बोली- केंद्र से मिला यूरिया नेपाल भेज रही नीतीश सरकार

 

 

सुशील मोदी ने शनिवार को बयान जारी कर कहा कि राज्य में खाद की कोई किल्लत नहीं है। बिहार के कृषि मंत्री गलत बयानबाजी कर केंद्र सरकार को बदनाम कर रहे हैं।

 

बिहार में खाद की किल्लत पर सियासी घमासान मचा हुआ है। बीजेपी ने नीतीश सरकार पर उर्वरक की नेपाल सीमा से तस्करी करने के आरोप लगाए हैं। पूर्व डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने शनिवार को कहा कि केंद्र सरकार ने बिहार को यूरिया का पर्याप्त स्टॉक दिया। इसके बावजूद किसानों को खाद नहीं मिल पाई। नीतीश सरकार के अधिकारी कालाबाजारी में लिप्त हैं। यूरिया की नेपाल सीमा से तस्करी हो रही है। सरकार पहले इसपर लगाम लगाए।

 

इससे पहले बिहार के कृषि मंत्री कुमार सर्वजीत ने केंद्र सरकार पर खाद का पर्याप्त स्टॉक बिहार को नहीं देने के आरोप लगाए थे। कुमार सर्वजीत ने कहा कि खाद के आवंटन में बिहार के साथ भेदभाव हो रहा है। इससे नीतीश सरकार की छवि खराब हो रही है। हालांकि, केंद्र सरकार ने देश में कहीं भी खाद की किल्लत होने से इनकार कर दिया है।

 

बिहार के बीजेपी नेताओं ने अब इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को घेरना शुरू कर दिया है। सुशील मोदी ने शनिवार को बयान जारी कर कहा कि राज्य में खाद की कोई किल्लत नहीं है। बिहार के कृषि मंत्री गलत बयानबाजी कर केंद्र सरकार को बदनाम कर रहे हैं। पिछले डेढ़ महीने में बिहार को 2.41 लाख मीट्रिक टन यूरिया मिला और बिक्री के बाद भी 1.68 लाख मीट्रिक टन स्टॉक में पड़ा है।

 

सुशील मोदी ने कहा कि रबी फसल को ध्यान में रख कर केंद्र सरकार ने बिहार को यूरिया और पी एंड के उर्वरक के 122 रैक अक्टूबर में और 17 नवंबर तक 85 रैक उपलब्ध कराए, लेकिन राज्य सरकार ने इसे किसानों तक नहीं पहुंचाया। बिहार को 1.62 लाख मीट्रिक टन डीएपी उर्वरक की आपूर्ति की गई और बिक्री के बाद यह 90 हजार मीट्रिक टन स्टॉक में है, फिर भी कमी का रोना रोया जा रहा है।

 

उन्होंने कहा कि नीतीश सरकार की वितरण व्यवस्था फेल होने के कारण उर्वरक किसानों के बजाय कालाबाजारियों और तस्करों के पास पहुंच रहा है। सरकार को अफसरों की मिलीभगत से होने वाली खाद की कालाबाजारी और नेपाल सीमा से होने वाली तस्करी रोकने पर कड़ी निगरानी रखनी चाहिए।

 

संजय जायसवाल बोले- सीजन में जबरन किल्लत पैदा की जाती है

वहीं, बिहार बीजेपी के अध्यक्ष संजय जायसवाल ने शनिवार को कहा कि बिहार में जब भी उर्वरक का सीजन आता है तब जानबूझकर एक आर्टिफिशल किल्लत पैदा की जाती है। केंद्रीय मंत्री मनसुख मांडविया साफ तौर पर कह चुके हैं कि उर्वरक की कोई कमी नहीं है, लेकिन उठाव की व्यवस्था बिहार सरकार अच्छे से नहीं करती है। इस कारण पूरा बिहार किल्लत से जूझता है।

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular