HomeBihar'जो पिएगा, वो मरेगा' वाले बयान पर CM नीतीश को बीजेपी ने...

‘जो पिएगा, वो मरेगा’ वाले बयान पर CM नीतीश को बीजेपी ने घेरा, गिरिराज सिंह ने मांगा इस्तीफा

 

जहरीली शराबकांड के बाद सीएम नीतीश कुमार के ‘जो पिएगा,वो मरेगा’ वाले बयान पर बीजेपी आक्रामक है। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार इस्तीफा दें। सुशील मोदी ने राज्यसभा में मुद्दा उठाया।

 

बिहार में जहरीली शराबकांड पर सियासत ने जोर पकड़ लिया है। बिहार से लेकर दिल्ली तक घमासान जारी है। जहरीली शराब से अब तक 43 मौते हो चुकी हैं। गुजरते वक्त साथ मौत के आंकड़े भी बढ़ते जा रहे हैं। सीएम नीतीश कुमार पर पर विफल शराबबंदी और उनके “जो पिएगा, वो मरेगा” वाले बयान पर बीजेपी हमलावर हो गई है। नेता प्रतिपक्ष और बीजेपी नेता विजय सिन्हा ने कहा कि सीएम नीतीश कुमार कुर्सी से चिपके रहने में रुचि रखते हैं। पीड़ित परिवारों को सांत्वना देने के बजाय वो इस घटना की तुलना अन्य घटनाओं से कर रहे हैं। जो उनकी असंवेदनशीलता को दर्शाती है।  सिन्हा ने कहा कि बीजेपी हमेशा शराबबंदी के साथ रही है। लेकिन शराब की होम डिलीवरी और बेरोकटोक आपूर्ति  के जरिए काले धन की समानांतर अर्थव्यवस्था को लागू किया जा रहा है। जिसके हम सख्त खिलाफ हैं।

 

नीतीश के बयान उनकी लाचारी- सुशील
बीजेपी नेता सुशील मोदी ने भी राज्यसभा में मशरख त्रासदी के मुद्दे को उठाया। उन्होने कहा कि सीएम नीतीश कुमार पूरी तरह हताश हैं, और जिम्मेदारी से भागने की कोशिश कर रहे हैं। शराबकांड में 40 लोगों की जान चली गई है और सीएम नहीं चाहते कि विपक्ष इसे सदन में उठाए। जिस तरह से उन्होंने सदन में प्रतिक्रिया व्यक्त की, वो उनकी लाचारी को दर्शा रही है। उन्हें इसकी समीक्षा करनी चाहिए कि शराबबंदी विफल रही है। जैसा कि हर कोई देख रहा है।

 

CM का बयान घाव पर नमक छिड़ने वाला- जायसवाल 
बिहार बीजेपी के अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने कहा कि शराबबंदी को सभी का समर्थन मिला है। लेकिन शराबबंदी की आड़ में होम डिलीवरी सुनिश्चित करने के लिए नहीं।  ऐसी घटनाओं के बाद मुख्यमंत्री का बयान घाव पर नमक छिड़कने जैसा है। उन्हें यह स्वीकार करना चाहिए कि उनकी ही पुलिस ने उन्हें विफल किया है। कुछ पुलिसकर्मियों को निलंबित करने से कोई उद्देश्य पूरा नहीं होगा क्योंकि लूट शीर्ष स्तर तक साझा की जाती है। उन्हें बताना चाहिए कि राज्य में शराब की कालाबाजारी के कारण सभी दलों ने शराबबंदी का समर्थन नहीं किया। अगर वो शराबबंदी सुनिश्चित करने में विफल रहे हैं, तो उन्हें इसे स्वीकार करें।

 

इस्तीफा दें नीतीश कुमार- गिरिराज सिंह
नीतीश सरकार पर निशाना साधते हुए बेगूसराय से सांसद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार को इस्तीफा दे देना चाहिए। मसरख में क्या हुआ और जिस तरह से सीएम विफल शराबबंदी को सही ठहराने की कोशिश कर रहे हैं। वह उनकी मानसिकता को दर्शाता है, कोई भी शराबबंदी के खिलाफ नहीं था। लेकिन ये कोई नहीं चाहता था कि सरकार की शराबबंदी को लागू करने में असमर्थता इतने सारे लोगों की मौत की वजह बने।

 

बिहार में शराबबंदी फ्लॉप है- रूडी
सारण के सांसद राजीव प्रताप रूडी ने भी लोकसभा में जहरीली शराब से मौत का मामला उठाया और कहा कि उनके निर्वाचन क्षेत्र में अवैध शराब की आपूर्ति गरीबों के जीवन के साथ खिलवाड़ कर रही है। बिहार में शराबबंदी फ्लॉप हो गई है,  इससे कोई इनकार नहीं कर रहा है। इतनी मौतों के बाद नीतीश कुमार अपनी शासन विफलताओं के लिए दूसरों पर दोष नहीं मढ़ सकते।

 

आपको बता दें जहरीली शराबकांड पर बिहार विधानसभा से संसद तक सियासी घमासान मचा है। ऐसे में देखना हुआ कि  बीजेपी और नीतीश सरकार की सियासी रस्साकशी कबतक जारी रहेगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular