HomeCrimeअंजलि ने बहुत शराब पी रखी थी, स्कूटी में साथ बैठी लड़की...

अंजलि ने बहुत शराब पी रखी थी, स्कूटी में साथ बैठी लड़की का दावा; बताया कैसे हुआ एक्सीडेंट

 

 

कंझावला केस: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के कंझावला केस में अंजलि की दोस्त निधि ने अहम खुलासे किये हैं। एक न्यूज चैनल से बातचीत में निधि ने बताया है कि हादसे से पहले अंजलि ने शराब पी थी और कुछ ज्यादा ही शराब पी ली थी। निधि ने बताया कि हादसे के बाद वो गाड़ी के नीचे चली गई और मैं गाड़ी से दूर गिर गई। जो गाड़ी चला रहे थे उन्होंने गाड़ी आगे-पीछे की। वो लड़की (अंजलि) चिल्ला रही थी और चीख रही थी। लेकिन उन्होंने सुनी नहीं और लड़की को खींच ले गये। निधि ने आगे बताया कि हम आराम से आ रहे थे। वो मुझे छोड़ कर घर जाने वाली थी। हादसे के बाद वो गाड़ी के अंदर फंस गई थी। अंजलि गाड़ी के नीचे फंस गई है, यह ध्यान देने के बावजूद गाड़ी वालों ने इग्नोर किया और गाड़ी को भगा  ले गए। गाड़ी में ना तो कई सॉन्ग बज रहा था और ना कुछ और था। उन्हें पता था कि गाड़ी के नीचे लड़की फंसी है। वो जानबूझ कर लड़की को घसीट कर ले गए। उन्होंने देखा कि वो लड़की है। फिर भी वो लड़की को खींच कर ले गए।

अंजलि के बॉयफ्रेंड के बारे में कही यह बात

निधि ने बताया कि उसकी (अंजलि) बॉयफ्रेंड से कुछ तू-तू-मैं-मैं हुई थी। उन दोनों की क्या बात हुई थी यह मुझे नहीं पता है। होटल से बाहर आते ही उसने कहा कि घर चलते हैं। उसने मुझसे कहा कि स्कूटी मुझे दो वरना मैं कूद जाउंगी। उसके बाद मैंने उसे स्कूटी की चाबी दी थी। कार से टकराने से पहले हम ट्रक से टकराने से बचे थे। निधि ने पूरी कहानी बताते हुए कहा कि हम होटल से निकले और थोड़ी देर के बाद ही सड़क पर कार से टक्कर की वजह से हादसा हो गया था। कार वालों ने सामने से टक्कर मारी थी।

 

अंजलि से यूं हुई थी निधि की दोस्ती…

निधि ने बातचीत में बताया है कि मेरी एक दोस्त थी उसके जरिए अंजलि से मेरी मुलाकात हुई थी। कम ही दिनों में हम दोनों की अच्छी बॉन्डिंग हो गई थी। हमने होटल में पार्टी करने का तय किया था। वो मुझे सुल्तानपुरी मेरे घर लेने आई थी। फिर वो मुझे रोहिणी अपने घर ले गई। इसके बाद उसने घऱ से स्कूटी की चाबी ली और मुझे लेकर ओयो होटल गई। इसके बाद हमने वहां पार्टी की। उसने अपने सारे दोस्तों को फोन किया। हम होटल में बैठे हुए थे और होटल में तय हुआ कि हम पार्टी करेंगे। अंजलि को गुस्सा बहुत जल्दी आता था।
हम ओयो होटल से करीब 2 बजे निकले। घर की तरफ जाते-जाते यह हादसा हुआ। पहले हम ट्रक में भिड़ते-भिड़ते बचे। वो लड़की चिल्ला रही थी कि अगर मेरा बॉयफ्रेंड मुझे नहीं मिला तो मैं मर जाऊंगी। इसके बाद उसने मुझसे स्कूटी ले ली। थोड़ी ही दूर जाने के बाद सामने से आ रही कार ने हमे टक्कर मार दी। अंजलि कार के नीचे फंस गई। वो चीख रही थी कि बचाओ-बचाओ। लेकिन लड़कों ने जानबूझ कर उसे घसीटा।

 

हादसे में निधि को भी लगी चोट

निधि ने बताया कि मुझे भी हाथ और आंख में चोट लगी थी। अगर वो लड़के गाड़ी रोक कर अंजलि को निकाल देते तो शायद अंजलि की मौत नहीं होती लेकिन जानबूझ कर लड़कों ने लड़की को घसीटा है।

 

निधि ने हादसे के बाद क्या किया..

निधि ने इस बातचीत में कहा कि कार में सवार लोग अंजलि को खींच कर घसीटते हुए ले गए। निधि घर चली गई थी। घर पर आने के बाद मम्मी थी और नानी थी। मैंने उनको बताया कि लड़की को गाड़ी के नीचे घसीट कर ले गए हैं। खींच कर ले जाने के बाद वो पीछे पलट कर भी नहीं देखे। मैं पैदल अपने घर गई थी। मेरा घर वहीं से थोड़ी दूर था।

 

पुलिस को क्यों नहीं बताया…

निधि से जब पूछा गया कि इतना बड़ा हादसा हो गया तो उसने पुलिस को इसकी जानकारी क्यों नहीं दी? वो इतने समय तक आखिर चुप क्यों रही? इसपर निधि ने कहा कि अंजलि को वो कार के नीचे जब घसीट कर ले गए तब वो काफी लाचार हो गई थीं। निधि ने कहा कि उन्हें लगा कि कार चालक थोड़ी दूर जाने के बाद उनकी लड़की को छोड़ देंगे। लेकिन न्यूज चैनल में बताया गया कि लड़की को कई किलोमीटर तक घसीटा गया। निधि ने कहा कि उन्हें डर हो गया था कि अगर उन्होंने कुछ कहा तो सभी लोग उन्हें ही ब्लेम करेंगे। वो काफी लाचार हो गई थीं। उन्हें लग रहा था कि कही यह सब उन्ही के ऊपर ना जाए इसलिए वो चुप रही।

 

अंजलि का यौन उत्पीड़न नहीं हुआ

दिल्ली में जिस 20 वर्षीय युवती को कार से टक्कर मारने के बाद कई किलोमीटर तक घसीटा गया, उसकी मौत सिर, रीढ़ की हड्डी और निचले अंगों में चोट लगने के परिणामस्वरूप रक्स्राव होने तथा आघात पहुंचने के चलते हुई। पुलिस ने मंगलवार को पोस्टमार्टम की प्राथमिक रिपोर्ट का हवाला देते हुए यह जानकारी दी। रिपोर्ट में यह भी संकेत दिया गया है कि युवती को लगी कोई भी चोट उसका यौन उत्पीड़न होने का साक्ष्य नहीं देती है। सूत्रों के मुताबिक, पोस्टमार्टम करने वाले चिकित्सकों का मानना है कि उसके निजी अंगों पर चोट के कोई निशान नहीं हैं।  युवती का पोस्टमार्टम सोमवार को मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज परिसर में एक मेडिकल बोर्ड की निगरानी में किया गया।

 

विशेष पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था) सागर प्रीत हुड्डा ने रिपोर्ट को लेकर कहा, ‘सिर, रीढ़ की हड्डी, बायीं जांघ की हड्डी और दोनों पैरों में गंभीर चोट पहुंचने के परिणामस्वरूप रक्स्राव हुआ और आघात लगा। सभी चोटें संभवत: वाहन से हुई दुर्घटना और घसीटे जाने के कारण लगीं।’ उन्होंने कहा, ‘साथ ही, रिपोर्ट से संकेत मिलता है कि कोई भी चोट यौन उत्पीड़न का साक्ष्य नहीं देती है। अंतिम रिपोर्ट आने वाले समय में प्राप्त होगी। मामले की जांच जारी है।’

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular