HomeBiharBreaking News: छपरा में जहरीली शराब से 5 की मौत, 7 गंभीर:...

Breaking News: छपरा में जहरीली शराब से 5 की मौत, 7 गंभीर: 3 ने अस्पताल पहुंचने से पहले तोड़ा दम; बढ़ सकता है मौत का आंकड़ा

 

वीडियो देखे और subscribe करे 👈

बिहार में शराबबंदी के बाद भी जहरीली शराब का कहर जारी है। अब छपरा के सारण में जहरीली शराब से 5 लोगों की मौत हुई है। प्रशासन की ओर से शराब से मौत की पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन आसपास के लोगों का कहना है कि सभी ने शराब पी थी। इसके बाद उनकी तबीयत बिगड़ने लगी।

 

करीब 12 लोगों ने शराब पी थी। जिनमें से 5 की मौत हो गई है। बाकी का इलाज चल रहा है। सभी ने डोयला गांव में देसी शराब पी थी। सभी लोग 1 किलोमीटर के दायरे में आसपास रहते हैं। डोयला इलाके में बड़े पैमाने पर देसी शराब बनती और बिकती है। इनमें से 3 लोगों ने अस्पताल पहुंचने से पहले ही दम तोड़ दिया, जबकि दो की इलाज के दौरान मौत हो गई।

 

परिवार ने बताया कि सभी ने शराब पी थी। जैसे ही घर लौटे तो कुछ देर बाद तबीयत बिगड़ने लगी। घटना इसुआपुर थाना क्षेत्र के डोइला गांव की है।

मृतकों में डोइला गांव निवासी संजय सिंह (पिता वकील सिंह), हरिंदर राम (पिता गणेश राम) और सीमावर्ती मशरक थाना क्षेत्र के यदुमोड़ निवासी कुणाल सिंह बताए जा रहे हैं। जबकि डोइला निवासी अमित रंजन, पिता विजेंद्र प्रसाद सिन्हा का सदर अस्पताल में इलाज के क्रम में देर रात मौत हो गई। मुकेश शर्मा, पिता बच्चा शर्मा की भी इलाज के दौरान ही मौत हुई है।

वीडियो देखे और subscribe करे 👈

बढ़ सकता है मौत का आंकड़ा, छावनी बना सदर अस्पताल
लोगों की माने तो मौत का आंकड़ा अभी और बढ़ सकता है। जहरीली शराब की भनक प्रशासन को लगते ही सदर अस्पताल छावनी में तब्दील हो गया। देर रात तक पुलिसकर्मी और प्रशासनिक पदाधिकारी भाग-दौड़ करते देखे गए। हालांकि जहरीली शराब के सेवन पर कुछ भी बोलने से कतराते रहे हैं। तीन लोगों की मौत गांव में ही हो गई थी जबकि चौथे व्यक्ति की मौत इलाज के क्रम में सदर अस्पताल में हो गई।

वीडियो देखे और subscribe करे 👈

शवों का पोस्टमार्टम कराएगा प्रशासन
इस घटना के बाद गांव में चीख-पुकार मच गई। वहीं जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया। मढौरा डीएसपी ने मौके पर पहुंचकर मामले की छानबीन में लगे हुए हैं। पुलिस और अन्य पदाधिकारी इलाके में जाकर अन्य बीमार लोगों की तलाश कर रहे हैं।

इनमें अमित रंजन के उपचार चलने की सूचना के बाद जिला पुलिस बल छपरा सदर अस्पताल पहुंचा। वहां उपचार के क्रम में अमित रंजन की मौत के बाद पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया है, इस दौरान मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने बताया कि शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा। ताकि मौत का कारण पता चल सके।

 

छपरा में 4 महीने पहले ही जहरीली शराब से 11 लोगों की मौत हुई थी…

पूजा के बाद पी शराब…उल्टियां होने लगी तो मचा कोहराम:छपरा में जहरीली शराब से 11 की मौत

छपरा के एक गांव में पूजा के बाद लोगों ने छककर देसी शराब पी। पीने के बाद जब घर गए तो उन्हें उल्टियां होने लगी। आंख से कम दिखने लगा। एक के बाद एक शराब पीने वालों की तबीयत खराब हुई और पूरे गांव में कोहराम मच गया। अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है।

वीडियो देखे और subscribe करे 👈

बुधवार रात से शुरू हुआ मौत का सिलसिला शुक्रवार को जारी रहा। तीन दिन में 11 लोगों के अलावा 35 लोगों की हालत गंभीर है। वहीं 15 लोग अपनी आंखों की रौशनी खो चुके हैं। सभी मृतक मकेर थाना क्षेत्र के फुलवरिया पंचायत स्थित भाथा नोनिया टोली के हैं।

शराब पीने से DPS के प्रिंसिपल समेत 3 की मौत:वैशाली के स्कूल में चल रही थी शराब पार्टी, डायरेक्टर बोले-क्षेत्र में शराब बिकती है

वैशाली के महनार में बीते 24 घंटे में 3 लोगों की जहरीली शराब पीने से मौत हो गई है। इनमें डीपीएस के प्रिंसिपल और अलग-अलग इलाकों के 20 और 25 साल के दो युवक शामिल हैं। मामला महनार के ही लावापुर का है। यहां के 25 साल के अनिल दास ने दिन में शराब पी थी। शाम में सदर अस्पताल, हाजीपुर लाते वक्त तक मौत हो गई है।

इससे पहले आज देशराजपूर गांव निवासी रामप्रवेश पासवान के पुत्र राहुल कुमार (20) और महनार थाना क्षेत्र के डीपीएस पब्लिक स्कूल के प्रिंसिपल जय प्रधान की भी मौत जहरीली शराब पीने से हुई है।

बिहार पुलिस की गुंडागर्दी:बोले- कहो तुम्हारे बेटे ने शराब नहीं पी; वैशाली में जहरीली शराब से हुई थी 3 की मौत

बिहार में शराबबंदी के बाद भी छापों में शराब पकड़ी जा रही है। शराब पीने के बाद लोगों की मौतें हो रही हैं, लेकिन पुलिस तस्करों पर शिकंजा कसने की बजाय मृतकों के परिवार को डराने में लगी है। वैशाली में बिहार पुलिस पर गुंडागर्दी करने का आरोप लगा है। शराब से एक युवक की मौत के पुलिस उसके घर पहुंची। पुलिस वाले परिवार से बोले कि कहो कि तुम्हारे बेटे ने शराब नहीं पी थी। पुलिस परिवार पर बयान बदलने का दबाव बनाने लगी।

50 लाख के स्कैनर से शराब ढूंढ रही बिहार पुलिस:गाड़ी चेक करते ही मशीन 40 सेकंड में बता देगी कि अंदर शराब है या नहीं

बिहार में शराबबंदी के बावजूद शराब का धड़ल्ले से बिकना रुक नहीं पाया है। पुलिस की तमाम सख्ती के बाद भी तस्कर शराब की तस्करी कर रहे हैं। ड्रोन, नाव और हेलिकॉप्टर के बाद अब बिहार पुलिस 50 लाख की हैंड स्कैनर मशीन से शराब ढूंढ रही है। पटना के साथ ही कुछ जिलों में इसकी शुरुआत की गई है।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular