Breaking News

झरियां के गोदाम प्रबंधक की भभुआ में कमरे से मिली मिली लाश, पास से 5 लाख नकद व अन्य सामान बरामद

 झरियां के गोदाम प्रबंधक की भभुआ में कमरे से मिली मिली लाश, पास से 5 लाख नकद व अन्य सामान बरामद


SUBSCRIBED

भभुआ में चैनपुर थाना क्षेत्र के जगरियां गांव के एक कमरे से बुधवार को बिस्कोमान गोदाम के प्रबंधक की लाश मिलने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई। मृतक 26 वर्षीय सागर आनंद पांडेय झारखंड के झरियां स्थित कोइरीबांध गांव के मूल निवासी थी। वह चैनपुर के जगरियां स्थित राजकिशोर सिंह के मकान में किराए पर रहते थे।


इसी गांव में बिस्कोमान का खाद गोदाम है। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में ले लिया है। परिजनों के आने का पुलिस इंतजार कर रही है। मामले की जांच वरीय पुलिस अधिकारी द्वारा कई बिंदुओं पर की जा रही है।


प्रबंधक की मौत कैसे हुई अभी पुलिस कुछ भी बता पाने की स्थिति में नहीं है। हालांकि मृतक के गले पर काला धब्बा दिख रहा है। गोदाम प्रबंधक की लाश जिस मकान से मिली है, उसके मुख्य गेट का ताला बाहर से बंद था, जबकि अंदर कमरे के सभी दरवाजे खुले हुए थे। मुख्य द्वार की चाबी उनके बंद कमरे में ही थी। जिस जगह पर प्रबंधक का शव पड़ा था, उसके ठीक ऊपर ग्रिल से पतला तार जमीन से करीब साढ़े फीट की ऊंचाई पर लटक रहा था।


घटना की खबर पर मौके पर एसडीपीओ सुनीता कुमारी पहुंची और शव के अलावा उनके बेडरूम को बारीकी से देखा। चारों तरफ नजर दौड़ाई। पूछने पर उन्होंने कहा कि अभी शव मिला है। कई बिंदुओं को ध्यान में रखते हुए जांच चल रही है। मौत का कारण अभी स्पष्ट नहीं हुआ है। मृतक के घर से बहुत सारे दस्तावेज पुलिस के हाथ लगे हैं। उसकी जांच चल रही है। इसके बाद ही तथ्यात्मक तरीके से कुछ कहा जा सकता है।


मौत के बारे में ऐसे चला पता

दरअसल, जगरिया स्थित गोदाम पर बुधवार को खाद लेने के लिए किसानों की भारी भीड़ लगी थी और दिन काफी ढलने के बाद भी कोई भी सरकारी मुलाजिम गोदाम पर नहीं पहुंच सका था। किसान गुस्से में हो गए और सड़क जाम करने की योजना बनाने लगे। तब कई लोगों ने सागर आनंद पांडेय के मोबाइल पर फोन कर जानकारी लेनी चाही। लेकिन, कॉल रिसीव नहीं की जा सकी।


आसपास के ग्रामीण पुलिस को सूचना देकर सागर आनंद पांडेय को घर से बाहर नहीं आने के बारे में बताया। सूचना पर थानाध्यक्ष उदयभानू सिंह के नेतृत्व में पुलिस टीम पहुंची। बाहर से गेट में ताला लटक रहा था। तब पुलिस कर्मी दूसरे ग्रामीण के घर की छत से उनके कमरे में प्रवेश किया। पुलिस ने देखा कि सागर आनंद पांडेय का शव कमरे में औंधे मुंह पड़ा है और गर्दन पर काले धब्बा का निशान है।


नहीं पहुंच सके थे प्रबंधक के परिजन

पुलिस द्वारा शव को अपने कब्जे में लेकर थाने लाया गया है। परिजनों को घटना की जानकारी दे दी गई है। लेकिन, समाचार लिखे जाने तक मृत गोदाम प्रबंधक के परिजन घटनास्थल या थाने पर नहीं पहुंच सके थे।

मिली जानकारी के अनुसार, गोदाम प्रबंधक के पिता एक साधारण किसान हैं। दो भाइयों में सागर सबसे छोटे थे। उनके पिता एवं परिवार के अन्य सदस्य चैनपुर के लिए अपने घर से निकल गए हैं। पुलिस उनके आने का इंतजार कर रही है। उनके आने पर ही शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा। इस घटना से किसान व आसपास के ग्रामीण सकते में है। इस घटना को लेकर कई तरह की चर्चाएं की जा रही है।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर (SUBHAKAR MEDIA PRIVATE LIMITED) वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।