Breaking News

Bihar Flood: उत्तर बिहार के जिलों में बारिश से बाढ़ विकराल, पूर्वी चम्पारण में तबाही, 50 हजार आबादी बाढ़ से प्रभावित

 




उत्तर बिहार में शनिवार की शाम से रुक-रुककर हो रही बारिश ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी है। खासकर बाढ़ प्रभावित इलाके में ऊंचे स्थान पर शरण लिये लोग दोहरी मुसीबत झेलने को विवश हैं। चम्पारण इलाके में गंडक का जलस्तर में गिरावट से नये इलाके में बाढ़ के पानी का फैलाव रुक गया है। वाल्मीकिनगर बराज से भी गंडक नदी में मात्र 1.19 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया। पूर्वी चम्पारण में बूढ़ी गंडक (सिकरहना) का पानी सुगौली, बंजरिया प्रखंड में तबाही मचा रहा है। इधर, मधुबनी, सीतामढ़ी व दरभंगा में बारिश से नदियों के जलस्तर में मामूली वृद्धि दर्ज की जा रही है।

मुजफ्फरपुर के साहेबगंज व पारू में बाढ़ के कारण लोगों की परेशानी बढ़ती ही जा रही है। प्रशासन की ओर से कोई राहत सामग्री उपलब्ध नहीं करायी गई है। दोनों प्रखंडों की 15 पंचायतों के दो दर्जन से अधिक गांव में बाढ़ का पानी घुसा हुआ है। इन गांवों में करीब 14 हजार आबादी बाढ़ की चपेट में है। प्रशासन की ओर से नाव की व्यवस्था नहीं किए जाने से लोगों की मुश्किलें और बढ़ गई है। लोग जान जोखिम में डालकर बाढ़ के पानी से निकल रहे हैं। बांध पर शरण लिये लोगों के सामने भोजन की बड़ी समस्या है। मवेशियों के लिए भी चारा नहीं मिल रहा है। पश्चिम चम्पारण में लौरिया- रामनगर और लौरिया -नरकटियागंज सड़क पर आवागमन अब भी सामान्य नहीं हो सका है। हालांकि गंडक, सिकरहना समेत सभी नदियों में पानी लगातार कम होने से प्रभावित क्षेत्रों से पानी धीरे-धीरे निकल रहा है।

पूर्वी चम्पारण के पांच प्रखंडों की लगभग 50 हजार की आबादी बाढ़ से प्रभावित है। सुगौली और बंजरिया प्रखंड क्षेत्र में बाढ़ की स्थिति सबसे ज्यादा गंभीर बनी है। बंजरिया प्रखंड की लाइफलाइन चैलाहा- सिसवनिया सड़क पर चार फीट तक बाढ़ का पानी बह रहा है। मोखलिसपुर, गोबरी पहुंचने के सभी तीनों रास्ते बाढ़ की पानी से बंद हो गए हैं। बाढ़ के पानी ने बुढ़वा- कुकुरजरी के बीच सड़क ध्वस्त होने से आवागमन बंद है। सुगौली प्रखंड के मुसवा, मेहवा व भेड़िहारी गांव में बाढ़ का पानी चढ़ गया है। भवानीपुर गांव में कटाव से करीब बीस फुट सोलिंग सड़क नदी में समा गई है। गंडक नदी का जलस्तर कम हो रहा है। लाल बेगिया सिकरहना व लाल बकेया गुवाबारी में बूढ़ी गंडक नदी का जलस्तर बढ़ रहा है। इधर, गंडक का पानी घटने से केसरिया व डुमरियाघाट में बाढ़ का पानी घट रहा है। दरभंगा में बारिश से कमला बलान और अधवारा समूह की नदियों के जलस्तर में आंशिक वृद्धि हुई है। वहीं सीतामढ़ी में बागमती व अधवारा समूह की नदियों के जलस्तर में लगातार बदलाव हो रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर (SUBHAKAR MEDIA PRIVATE LIMITED) वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।