Breaking News

पत्रकारों का प्राथमिकता के आधार पर होगा टीकाकरण, सीएम ने फ्रंटलाइन वर्कर की श्रेणी में किया शामिल

 



मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर राज्य सरकार ने पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर की श्रेणी में शामिल करते हुए इन्हें प्राथमिकता के आधार पर कोरोना टीकाकरण कराने का निर्णय लिया है। सूचना एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा एक्रेडिएटेड सभी पत्रकारों के साथ साथ जिला जनसंपर्क पदाधिकारी द्वारा सत्यापित नॉन एक्रिएटेड पत्रकारों (प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक व वेब मीडिया आदि) को प्राथमिकता के आधार पर कोरोना का टीकाकरण कराने के लिए इन्हें फ्रंटलाइन वर्कर की श्रेणी में शामिल किया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि कोरोना संक्रमण के दौर में पत्रकार अपनी बेहतर भूमिका का निर्वहन कर रहे हैं। कोरोना संक्रमण के खतरे के प्रति लोगों को जागरूक भी कर रहे हैं।

बिहार में 16 लाख कोरोना टीका का कोटा मई के लिए तय : मंगल पांडेय
स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा है कि मई के लिए 16 लाख कोरोना टीका का कोटा केंद्र सरकार ने तय कर दिया है। इन टीकों के मिलने के बाद ही 18 से अधिक उम्र के व्यक्तियों के टीकाकरण का कार्य शुरू होगा। श्री पांडेय ने शनिवार को ऑनलाइन प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि केंद्र सरकार ने 11 लाख 89 हजार 250 कोविशिल्ड का टीका और 4 लाख 12 हजार 450 कोवैक्सिन का टीका देने का कोटा तय किया है।

मंत्री ने बताया कि 18 से अधिक उम्र के व्यक्ति जो अपना निबंधन कोविन पोर्टल पर करा चुके हैं, उन्हें टीकाकरण स्थल और टीका की तिथि की जानकारी उनके रजिस्टर्ड मोबाइल पर दी जाएगी। जैसे ही राज्य को टीका उपलब्ध होगा वैसे ही ये सूचना दी जाएगी। उन्होंने बताया कि राज्य मंत्री परिषद ने 4165.05 करोड़ रुपये की सैद्धांतिक मंजूरी दी टीकाकरण के लिए दी है। साथ ही एक हजार करोड़ रुपए का आवंटन भी कर दिया है, ताकि टीका जल्द खरीद कर तीसरे चरण का टीकाकरण कार्य शुरू हो सकें। टीकाकरण को लेकर अब न तो पैसे की कमी है और न तैयारी की। जैसे ही टीका मिलेगा, टीकाकरण शुरू हो जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।