Breaking News

लापरवाही में तीन मजिस्ट्रेट के खिलाफ FIR, कोरोना काल में ड्यूटी से गायब रहने का आरोप

 


कोविड-19 महामारी की रोकथाम के लिए और एम्स प्रशासन से समन्वय कर मरीजों को चिकित्सा लाभ उपलब्ध कराने के लिए जिला प्रशासन द्वारा प्रतिनियुक्त तीन मजिस्ट्रेट के ड्यूटी से गायब रहने व कार्य में लापरवाही पर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है। 

इन तीनों मजिस्ट्रेट पर आरोप है कि ये 30 अप्रैल को अपनी ड्यूटी से गायब थे। ड्यूटी से अनुपस्थित रहने की सूचना भी इन्होंने जिला नियंत्रण कक्ष को नहीं दी थी। जिसके कारण कोविड मरीजों को काफी परेशानी हुई। अस्पताल में भर्ती कराने से लेकर विधि व्यवस्था भी बिगड़ी। इस लापरवाही को गंभीरता से लेते हुए जिला नियंत्रण कक्ष ने फुलवारीशरीफ थाना में मजिस्ट्रेट संजीत कुमार, दिलीप ठाकुर और शशि कुमार के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। 

एक्साइज दारोगा व दो सिपाही निलंबित
उत्पाद विभाग के एक दारोगा व दो सिपाहियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। निलंबन की यह कार्रवाई जांच में उनके खिलाफ लगे आरोप सही पाये जाने पर विभाग से की गई है। निलंबित कर्मी गया में पोस्टेड थे। विभाग की ओर से जारी अधिसूचना के अनुसार दारोगा ओम प्रकाश के साथ सिपाही भगवान शर्मा ओर हरेन्द्र कुमार को निलंबित किया गया है। इन सभी पर नशे की हालत में गिरफ्तार व्यक्ति से अवैध वसूली का आरोप था। इसकी जांच गया के सहायक आयुक्त से कराई गई तो पहली नजर में आरोप सही पाये गये। लिहाजा विभाग ने इन्हें निलंबित कर दिया है। 

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।