Breaking News

बेटी की डोली के दिन ही पिता की हादसे में मौत, सामाजिक पहल पर गमगीन माहौल में शादी संपन्न

 



बिहार के भोजपुर में बेटी की डोली उठने के दिन ही सुबह में ट्रेन की चपेट में आने से पिता की मौत हो गई। हालांकि इसके बावजूद सामाजिक पहल पर मोहल्ले वासियों और रिश्तेदार के सहयोग से देर रात सादगी और गमगीन भरे माहौल में बिहिया में मृतक अरविंद लाल की बेटी की शादी सम्पन्न हुई। 

बता दें कि शुक्रवार की सुबह हादसे के बाद रिश्तेदारों की सहमति से रात में यूपी के सेवराई (भदौरा) से महज पांच बारातियों के साथ दूल्हा मुकेश लाल आये। शादी घर की बजाय गुप्ता मंडी गली स्थित धर्मशाला में ही लड़की को बुलाकर कराई गई। लड़की के मामा और मामी ने कन्यादान दिया। शनिवार की तड़के तीन बजे तक शादी सम्पन्न हुई। बता दें कि तिलकोत्सव और हल्दी की रस्म 28 अप्रैल को सम्पन्न हुई थी। 30 अप्रैल को शादी तय की गई थी और इसी दिन सुबह हादसे में लड़की के पिता की मौत हो गई।

शादी की रस्म भी नहीं देख सकी मां, लड़की भी होती रही बेहोश
बताया जा रहा है कि पति की मौत के बाद पत्नी सुमन देवी की तबीयत काफी बिगड़ गई। उनका इलाज निजी अस्पताल में कराया गया। रात में बारात आई, लेकिन मां के होश में नहीं रहने के कारण बेटी की न तो शादी देखी और न ही विदाई की। इस दौरान सुबह मां से मिलने के लिए अड़ी बेटी को ससुराल रवाना कर दिया गया। गम में डूबी बेटी रेशमा कुमारी शादी होने के दौरान चार बार बेहोश हुई। इस दौरान रिश्तेदारों ओर मोहल्ले की महिलाओं द्वारा किसी तरह संभाला गया। शादी कराने में वार्ड पार्षद सुजीत कुमार चौरसिया,बिहारी प्रसाद, उमाशंकर केशरी,मुन्ना केशरी,बिट्टू कुमार, बाबू लाल,सोनू कुमार काफी सहयोग रहा।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।