Breaking News

मुजफ्फरपुर के बैरिया बस स्टैंड में धूं-धूंकर जलीं 3 बसें, एक किलोमीटर तक देखी गईं लपटें, यात्रियों के नहीं होने से टला बड़ा हादसा

 



मुजफ्फरपुर के बैरिया बस स्टैंड में मंगलवार की सुबह साढ़े नौ बजे अचानक एक बस में आग लग गई। जबतक इसकी जानकारी होती, उस बस के दोनों तरफ खड़ी दो अन्य बसें भी आग की चपेट में आ गईं। आनन-फानन में आसपास की कई बसों को धक्का देकर हटाया गया। घटना से मौके पर अफरातफरी मच गई। 
बसों के चालक, खालसी और गैराज के कर्मियों ने सर्विसिंग सेंटर से पानी लेकर आग बुझाने की कोशिश की। तबतक अहियापुर थाना पर प्रतिनियुक्त फायर ब्रिगेड की छोटी गाड़ी और चंदवारा स्थित फायर स्टेशन से चार दमकल पहुंचे। हालांकि, तीनों बसें जलकर बर्बाद हो गईं। हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ है। तीनों बसें खाली थीं। स्टैंड में अपने समय का इंतजार कर रही थी।  

स्थानीय लोगों के मुताबिक, स्टैंड में स्मैक व गांजा पीनेवाले नशेड़ियों का अड्डा जमता है। नशेड़ी खाली बस के अंदर जबरदस्ती घुसकर या इसके नीचे छिपकर गांजा व स्मैक पीते हैं। गांजा पीने के दौरान की आग लगने की आशंका जतायी है। हालांकि, इसका ठोस प्रमाण नहीं मिल सका है। आग साढ़े दस बजे बुझाई गई। दो बस एक कंपनी व तीसरी बस दूसरी कंपनी की है। 

एक किलोमीटर तक देखी गई लपटें 
स्थानीय जगदंबा नगर कॉलोनी के चंद्रमणि तिवारी ने बताया कि वे ऑफिस जाने के लिए घर से निकल रहे थे। उनके घर से बैरिया स्टैंड में धधक रही बसों से उठ रही लपटें और धुंआ दिख रहा था। इसके बाद वे अपने कुछ परिचितों के साथ पहुंचे। उन्होंने बताया कि तीन बसें जल चुकी थीं। कई अन्य बसों को लोग धक्का देकर हटा रहे थे। चंद्रमणि ने बताया कि बैरिया बस स्टैंड संवेदनशील जगह है। इस तरह के हादसों से निपटने के लिए एक वाटर हाईड्रेंट जरूर होना चाहिए। 

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।