Breaking News

STF को मिली बड़ी कामयाबी, आरा में दिनदहाड़े हत्या करनेवाले दो अपराधी पटना से गिरफ्तार पटना

 


भोजपुर के दो कुख्यात को एसटीएफ ने शनिवार को पटना से गिरफ्तार कर लिया। कंकड़बाग के अशोक नगर से गिरफ्तार प्रकाश चौधरी और अजितेश उर्फ गोलू कुख्यात बूटन चौधरी के भतीजे दीपू चौधरी की हत्या के मामले में फरार थे। पुलिस की गिरफ्त से बचने के लिए दोनों अशोक नगर में छुपे थे। गिरफ्त में आया प्रकाश कुख्यात रंजीत चौधरी का भतीजा है। इसके पिता हेमंत चौधरी की हत्या का आरोप बूटन गैंग पर लगा था। 

आरा के नवादा थाना क्षेत्र में सर्किट हाउस के पास 24 मार्च को बेलाउर गांव के रहनेवाले दीपू चौधरी की हत्या हुई थी। अपराधी उसे पकड़ी चौक से खदेड़ते हुए सर्किट हाउस तक पहुंचे और गोली मार दी। बेलाउर के ही रहनेवाले प्रकाश चौधरी और सहार के एकवारी निवासी अजितेश कुमार उर्फ गोलू पर इस हत्यकांड को अंजाम देने का आरोप है। दोनों इस मामले में अभियुक्त हैं। वारदात के बाद ये फरार हो गए थे। एसटीएफ को इनके कंकड़बाग के अशोक नगर में छुपे होने की सूचना मिली। शनिवार को छापेमारी में दोनों पकड़े गए। प्रकाश और अजितेश को भोजपुर पुलिस के सुपूर्द कर दिया गया है।

रंजीत व बूटन गिरोह में गिर चुकी हैं दर्जन भर लाशें
भोजपुर के उदवंतनगर थाना के बेलाउर गांव के रहनेवाले रंजीत चौधरी और बूटन चौधरी गिरोह के बीच करीब 6 वर्षों से अदावत चली आ रही है। दोनों ही ओर से अबतक एक दर्जन लाशें गिर चुकी हैं। पिछले पंचायत चुनाव में रंजीत चौधरी के भाई व मुखिया प्रत्याशी हेमंत चौधरी की घर के दरवाजे पर हत्या कर दी गई थी। इस हत्या का आरोप बूटन चौधरी गैंग पर लगा। इसके बाद यह अदावत और भी बढ़ गई। इसी साल 24 मार्च को बूटन के भतीजे दीपू चौधरी की हत्या कर दी गई। इस हत्याकांड के पीछे रंजीत चौधरी गैंग का ही हाथ होने की बात सामने आई थी। बूटन और रंजीत दोनों फिलहाल जेल में हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।