Breaking News

Indian Railway News: सिकंदराबाद-दानापुर एक्सप्रेस स्पेशल बदले मार्ग से चलेगी, 3 ट्रेनें रद्द, मुंबई व पुणे से 7 स्पेशल ट्रेनों से आएंगे 12 हजार प्रवासी

 


पटना बरौनी और दरभंगा से होकर चलने वाली 3 ट्रेनें अलग-अलग तिथियों में 11 अप्रैल से 24 अप्रैल तक रद्द रहेंगी। वहीं, सिकंदराबाद से दानापुर के बीच चलाई जाने वाली स्पेशल ट्रेन भी 10 से 24 अप्रैल के बीच अपने बदले मार्ग से चलेंगी। पूर्व मध्य रेल के मुख्य यात्री परिचालन प्रबंधक ने इस संबंध में सूचना जारी कर दी है।

करोंजी बलहरशाह सेक्शन में कोल्लनूर पोटकपल्ली स्टेशन के बीच प्री एनआई कार्य 11 से 16 अप्रैल तक तथा 17 से 24 अप्रैल तक होना है। इसी कारण सिकंदराबाद दानापुर स्पेशल क्लोन एक्सप्रेस लाभो, दानापुर सिकंदराबाद एक्सप्रेस स्पेशल क्लोन, बरौनी एर्नाकुलम एक्सप्रेस स्पेशल, एर्नाकुलम बरौनी एक्सप्रेस स्पेशल और सिकंदराबाद दरभंगा एक्सप्रेस स्पेशल तथा दरभंगा सिकंदराबाद एक्सप्रेस स्पेशल परिचालन के दिन से अलग-अलग तिथियों में निरस्त रहेगी। ये ट्रेनें 24 अप्रैल तक अलग अलग तिथि में रद्द होंगी। 

वहीं, सिकंदराबाद दानापुर एक्सप्रेस स्पेशल लाभो ट्रेन 11 अप्रैल से 24 अप्रैल तक बदले हुए मार्ग से चलेगी। यह ट्रेन सिकंदराबाद इटारसी प्रयागराज दानापुर के बजाय सिकंदराबाद मुदखेड नांदेड पूर्णा जंक्शन, खंडवा, इटारसी के रास्ते चलाई जाएगी। वहीं, दानापुर सिकंदराबाद एक्सप्रेस स्पेशल लाभो 10 अप्रैल से 23 अप्रैल तक बदले हुए मार्ग से चलेगी। इन दोनों ट्रेनों का काजीपेट, पेद्दापल्ली, राम कुंदन, मंचयाल, बेलमपल्ली सिरपुर बलहरशाह, चंद्रपुर, सेवाग्राम, नागपुर में ठहराव को समाप्त कर दिया गया है।

मुंबई-पुणे से 10 से 13 तक 7 स्पेशल ट्रेनों से पटना आएंगे 12 हजार प्रवासी
महाराष्ट्र में कोरोना वायरस का अधिक प्रकोप होने के बाद प्रवासी मजदूरों के बिहार लौटने का सिलसिला तेज होने लगा है। मुंबई व पुणे से 10 से 13 अप्रैल तक 7 स्पेशल ट्रेनों से बिहार के विभिन्न हिस्सों के लगभग 12 हजार प्रवासी मजदूर पटना आएंगे। दानापुर रेलवे स्टेशन पर सोशल डिस्टेसिंग यानी गोल घेरे में खड़ा कर इन सभी प्रवासी मजदूरों की कोरोना जांच की जाएगी। जांच में पॉजिटिव पाये गये लोगों को क्वारंटाइन सेंटर भेजा जाएगा जबकि निगेटिव मिले लोगों को बसों के जरिये उनके घर तक छोड़ा जाएगा। जांच के लिए स्वास्थ्य कर्मियों की कुल 24 टीमें तैनाती की जा रही हैं। लौटने वाले प्रवासियों के लिए दानापुर रेलवे स्टेशन पर ही खाने-पीने का इंतजाम रहेगा। इसी कड़ी में मंगलवार को जिलाधिकारी डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने दानापुर रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया तथा वहां की व्यवस्था के बारे में रेलवे अधिकारियों से बातचीत की।

रेलवे द्वारा जिला प्रशासन को दी गई जानकारी के अनुसार 10 अप्रैल की रात 11:30 बजे पहली ट्रेन दानापुर रेलवे स्टेशन पहुंचेगी जिसमें लगभग 1500 यात्री सवार रहेंगे। इन यात्रियों को दानापुर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर वन ए पर कोरोना जांच के लिए कैंप लगाया जाएगा जिसमें 24 मेडिकल टीम होगी। जांच के बाद जो लोग कोरोनावायरस से संक्रमित पाए जाएंगे उन्हें पटना के विभिन्न सेंटरों पर क्वॉरेंटाइन कर दिया जाएगा जबकि जो नेगेटिव होंगे उन्हें बस से संबंधित जिलों में भेज दिया जाएगा। डीएम ने बताया कि स्पेशल ट्रेन से आने वाले सभी लोगों की जांच की जाएगी उन्हें प्लेटफार्म पर ही रहने और खाने की व्यवस्था की जाएगी ताकि किसी तरह की परेशानी नहीं हो इसके अलावा मेडिकल टीम द्वारा एक एक करके सभी लोगों की जांच की जाएगी। उन्होंने बताया कि पहली ट्रेन 10 अप्रैल की रात में आ रही है जबकि दूसरी ट्रेन से 11 अप्रैल की रात में आएगी । प्रतिदिन एक ट्रेन यहां पहुंचने वाली है कुल 7 ट्रेनें हैं जिसमें चार ट्रेन रात में जबकि तीन ट्रेन दिन में दानापुर रेलवे स्टेशन पहुंचेगी। डीएम ने रेलवे अधिकारियों से कहा है कि मरीजों की जांच के लिए ऐसी जगह व्यवस्था करें जिससे रेलवे के परिचालन पर किसी तरह का व्यवधान नहीं हो। बता दें कि पिछले साल भी प्रवासी मजदूरों को दानापुर रेलवे स्टेशन पर ही उतारा गया था तथा यहां जांच करने के बाद उन्हें संबंधित जिले में भेजा गया था।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।