Breaking News

ईसाइयों ने श्रद्धा व भक्ति के साथ मनाया गुड फ्राइडे का त्योहार

 


मोतिहारी । छोटा बरियारपुर स्थित संत फ्रांसिस असीसी चर्च परिसर में शुक्रवार को गुड फ्राइडे का त्योहार भक्ति व श्रद्धा के साथ ईसाइयों द्वारा मनाया गया। ऐसी मान्यता है कि आज हीं के दिन ईसा मसीह को क्रूस पर मार दिया गया था। फादर जेरम ने कहा कि मरने से पहले सब कुछ पूरा हो चुका है यह कहकर उन्होंने सिर झुकाया और अपने प्राण त्याग दिए। इसके पूर्व चर्च से ईसा मसीह के मरने की झांकी फादर जेरम के नेतृत्व में निकाली गई। झांकी को 14 स्थानों पर पेश किया गया। ऐसी मान्यता है कि ईसा मसीह 14 स्थानों पर क्रूस को ढोते हुए जाते है उसके बाद क्रूस को टांग दिया जाता है, जिसके बाद वे अपने प्राण त्याग देते है। झांकी चर्च परिसर से होते हुए बरियारपुर होते हुए वापस चर्च पहुंची। झांकी के साथ फादर सहित ईसाई परिवार के लोग शामिल रहे। फादर जेरम ने कहा कि गुड फ्राइडे के दिन हम सब ईसाई ईसा मसीह के दुखभोग व मृत्यु को याद करते है। दुख भोग व मृत्यु के द्वारा समस्त मानव जाति को एक नया जीवन प्रदान किया। प्रभु की प्राणपीड़ा मानव जाति के प्रति उनके प्रेम और प्रमाण के प्रतीक है। इससे बड़ा प्रेम किसी का नहीं हो सकता। हमारे प्रभु ने अपने प्राण अपने लोगों की मुक्ति के लिए क्रूस पर त्याग दिया। यही सच्चा बलिदान है। फादर बेसिल ने कहा कि सच्चे प्यार में बलिदान निहित होता है। बलिदान प्यार का प्रमाण है और आत्म बलिदान सबसे बड़ा प्रमाण है। फादर पौल ने कहा कि आज के दिन उदास होने का दिन नहीं है। आज हमारे प्रभु मर गए। आनंद मनाने का दिन है, क्योंकि क्रूस पर अपनी मृत्यु द्वार यीशु ने मृत्यु पर विजय पायी। झांकी में फादर बोचावेंचर, सिस्टर सहित चकिया, पचपकड़ी, ढाका, मोतिहारी शहर के ईसाई समुदाय के लोगों ने भाग लिया। 

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।