Breaking News

गड़खा में ड्रग इंस्पेक्टर की टीम ने की छापेमारी, भारी मात्रा में दवा की जब्त

 


छपरा । अगर आप बिना लाइसेंस के दवा दुकान चला रहे हैं तो सावधान हो जाएं। औषधि विभाग की टीम किसी भी वक्त आपकी दुकान पर पहुंच कर छापा मार सकती है। दोषी पाये जाने पर आप के खिलाफ टीम कानूनी कार्रवाई की जायेगी। गड़खा बाजार बसंत रोड में शनिवार को एम पी फार्मा में सहायक औषधि नियंत्रक सारण सरिता कुमारी के आदेश पर ड्रग इंस्पेक्टर शशि भूषण कुमार, इंस्पेक्टर अभय शंकर की टीम के द्वारा छापेमारी की गई। भारी मात्रा में दवाओं को जब्त किया गया है। जब टीम के द्वारा दवा संचालक से दवा लाइसेंस की मांग की गई तो संचालक ने लाइसेंस दिखाया। इस दौरान पता चला कि लाइसेंस की अवधि नौ साल पहले 2012 में ही समाप्त हो गयी थी। टीम के सदस्यों ने बताया कि संचालक ने इस संबंध में बहुत बहाने बनाये लेकिन टीम के सामने उसकी नहीं चली और फर्जीवाड़ा सामने आ गया। जांच में दवा दुकान बिना लाइसेंस की निकली व अवैध रूप से चल रही थी। दुकान में दवा के खुदरा के साथ थोक व्यापार भी किया जा रहा था। दवा दुकान में नशे के रूप में दुरुपयोग होने वाली कफ सिरप भी मिली जिसकी खरीद बिक्री का कोई हिसाब नहीं मिला। फ्रिज में रखने वाली दवा व टेटनस की सुई भी बाहर रखी मिली। इस संबंध में ड्रग इंस्पेक्टर ने बताया कि इसका उपयोग करना मानव जीवन के लिए बहुत ही घातक हो सकता है। इन दवाओं सहित भारी मात्रा में कई तरह की दवाएं जब्त की गई । जब्त दवा की कीमत 76 हजार रुपये बताई जाती है। कुछ संदिग्ध दवाओं को भी सील किया गया है जिसे जांच के लिये भेजा जाएगा । गड़खा थाना में संचालक अरविंद कुमार सिंह, निवासी जफरपुर, सराय बक्स थाना गड़खा के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करा दी गयी है। दुकानदार के खिलाफ आगे की कार्रवाई जारी है। ड्रग इंस्पेक्टर ने आमलोग से भी अपील की है कि जब भी दवा लें तो दुकानदार से पक्का बिल की मांग जरूर करें। जिला औषधि नियंत्रक ने बताया गया कि अवैध रूप से चल रही दवा दुकान के विरुद्ध आगे भी कार्रवाई जारी रहेगी।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।