Breaking News

CBSE exam 2021: बिहार झारखंड के सीबीएसई 10वीं और 12वीं के 5087 परीक्षार्थियों ने बदला केंद्र

 


केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की दसवीं और 12वीं के हजारों परीक्षार्थियों ने अपना परीक्षा केंद्र बदल लिया है। ये छात्र अब उन शहर के परीक्षा केंद्र पर परीक्षा देंगे, जहां का विकल्प छात्रों ने सीबीएसई को दिया है। पटना जोन की बात करें तो 5087 परीक्षार्थियों ने परीक्षा केंद्र बदल लिया है। इसमें बिहार के चार हजार और झारखंड के 1087 परीक्षार्थी शामिल हैं। परीक्षा केंद्र का बदलाव 12वीं से अधिक 10वीं के छात्रों ने किया है। पटना क्षेत्रीय कार्यालय की मानें तो दसवीं के तीन हजार 654 छात्रों ने अपना केंद्र बदलने के लिए आवेदन दिया था। 

ज्ञात हो कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सीबीएसई द्वारा केंद्र बदलने की सुविधा छात्रों को दी गई थी। इसमें उन छात्रों को परीक्षा केंद्र बदलने का विकल्प था जो कोरोना के कारण दूसरे शहर में फंसे थे और वो अब उसी शहर से परीक्षा देना चाह रहे हों। भले ये छात्र का स्कूल कहीं पर भी हो। इसमें बोर्ड ने शहर बदलने का विकल्प दिया था। ऐसे में पटना जोन के सैकड़ो छात्रों ने केंद्र बदल दिया है। बोर्ड की मानें तो बहुत ऐसे छात्र हैं जो हॉस्टल में रह कर पढ़ाई कर रहे थे। लेकिन कोरोना के कारण वो अपने गृह जिले में चले गये थे। अब छात्र अपने गृह जिले के किसी केंद्र पर बोर्ड परीक्षा में शामिल होंगे। 

प्रवेश पत्र से मिलेगी केंद्र की जानकारी  बोर्ड की मानें तो 20 अप्रैल के बाद प्रवेश पत्र जारी किया जायेगा। छात्रों को प्रवेश पत्र से उनके केंद्र की जानकारी मिल जायेगी। अभी प्रैक्टिकल परीक्षा के लिए रोल नंबर जारी किया गया है। वहीं सैद्धांतिक परीक्षा के लिए प्रवेश पत्र 20 अप्रैल के बाद जारी होगा। स्कूल वेबसाइट से प्रवेश पत्र डाउनलोड किया जायेगा। हालांकि कोरोना संक्रमण को देखते हुए इस बदलाव से परीक्षार्थियों को परीक्षा देने में सुविधा होगी।

परीक्षार्थियों को सुविधा मिले, इसके लिए केंद्र बदलने का अवसर दिया गया था। काफी संख्या में छात्रों ने इसके लिए आवेदन दिया था। जिन छात्रों ने आवेदन दिया, उनका परीक्षा केंद्र बदल दिया गया है।
-संयम भारद्वाज, परीक्षा नियंत्रक सीबीएसई 

रिजल्ट अपने ही स्कूल से मिलेगा 
बोर्ड की मानें तो जिन छात्रों ने परीक्षा केंद्र बदल लिया है। वो परीक्षा तो दूसरे शहर से देंगे। लेकिन उनका रिजल्ट उनके अपने ही स्कूल से मिलेगा। ऐसे छात्र का रिजल्ट तैयार होने के बाद उसे संबंधित क्षेत्रीय कार्यालय को भेज दिया जायेगा। इसके बाद क्षेत्रीय कार्यालय द्वारा स्कूल से संपर्क कर छात्र के इंटरर्नल असेसमेंट के साथ उनका रिजल्ट बनाया जायेगा। 

परीक्षा छूटने से बच पाएंगे छात्र 

बोर्ड द्वारा परीक्षा केंद्र बदलाव का विकल्प देने से बहुत सारे छात्रों की परीक्षा छूट नहीं पायेगी, क्योंकि ये छात्र अब आसानी से गृह जिले के किसी केंद्र पर परीक्षा 
दे पायेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।