Breaking News

नल जल उद्घाटन के दो साल बाद भी एक बूंद पानी को तरस रहे लोग, जगह-जगह फटा पाइप

 


जिस उद्देश्य से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सात निश्चय योजना को लागू किया गया था वह धरातल पर साकार होती दिखाई नहीं दे रही है। इस योजना में भारी अनियमितता बरती जा रही है। गया के नीमचक बथानी प्रखंड की नैली पंचायत के वार्ड नंबर 6 गोबडीहा गांव में लाखों रुपये की लागत से नल जल का कार्य कराया गया है। 

कार्य में अनियमितता ऐसी बरती गई है की पानी के मेन पाइप को एक मीटर गड्ढा यानी 39.37 इंच के बदले सिर्फ 6 इंच गड्ढा खोदकर बिछा दिया गया है। इस कारण पाइप जगह-जगह पर फट गया है। इस कारण लोगो को उद्घाटन के एक माह बाद से अबतक  एक बूंद पानी नसीब नहीं हो सका है।

गांव के महिला पुरुष सहित दर्जनों ग्रामीणों ने बताया कि इसकी शिकायत अधिकारियों से कई बार की गई है पर अब तक अधिकारियों द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की जा सकी है। इस वार्ड में नल जल का उद्घाटन 2 वर्ष पूर्व ही कर दिया गया था लेकिन 2 वर्ष बीत जाने के बाद भी अब तक लोगो को एक बूंद पानी का नसीब नहीं हो सका है।

क्या कहते हैं ग्रामीण
ग्रामीण दीपक कुमार ने कहा, 'बंद पड़े नल जल को चालू करवाने के लिए नीमचक बथानी बीडीओ निर्मल कुमार को आवेदन दिए थे उन्होंने आकर मामले की जांच भी की और जगह-जगह फटे पाइप को भी देखा पर अब कोई कार्रवाई नहीं की जा सकती है।'

ग्रामीण कंचन देवी ने कहा, 'भीषण गर्मी के कारण घरों मे लगे चापाकल का लेयर भी भाग गया है इसके बाद भी नल जल से एक बूंद पानी नसीब नहीं हो रहा है दूसरों के घरों से पानी लाकर हम लोग प्यास बुझा रहे हैं।'

ग्रामीण लाला प्रसाद, 'वार्ड सदस्य से जब भी बंद पड़े नल जल को चालू कराने की बात करते हैं तो वह सिर्फ 2 दिनों में चालू करवाने की बात कहते हैं लेकिन 2 वर्ष बीत जाने के बाद भी अब तक नल जल चालू नहीं हो सका है।'

क्या कहते हैं अधिकारी
नीमचक बथानी के बीडीओ निर्मल कुमार ने कहा, 'ग्रामीणों के द्वारा किया गया शिकायत बिल्कुल सही है हमने खुद स्थल पर जाकर मामले की जांच की है इस मामले में वार्ड सदस्य और मुखिया से स्पष्टीकरण की मांग की गई है स्पष्टीकरण आने के बाद कार्रवाई के लिए जिला अधिकारी को लिखा जाएगा।'

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।