Breaking News

मधुबनी कांड पर बोले पप्पू यादव, पक्ष और विपक्ष मिलकर बिहार को नरसंहार की आग में झोकना चाहते हैं


 

मधुबनी गोली कांड के बाद बाहर से आए करणी सेना के लोगों ने समाज में उन्माद फैलाने की कोशिश की। बिहार यह बर्दाश्त नहीं करेगा। हम अपनी समस्याओं को हल करना जानते हैं। जन अधिकार पार्टी सभी दोषियों को कड़ी सजा दीलवाएगी। जिन लोगों ने बिहार में अराजकता फैलाई है उन्हें माफ नहीं किया जा सकता है। समाज को बांटने वाले दलों पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए। फिर चाहे वो करणी सेना हो, बजरंग दल हो या कोई अन्य संगठन। उक्त बातें जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने पार्टी कार्यालय में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कही। पप्पू यादव ने कहा कि बिहार सरकार कमजोर हैं जिसके कारण उपद्रवी संगठन बिहार को अशांत बनाए हुए हैं।

पप्पू यादव ने कहा कि प्रवीण झा की जाति नहीं देखनी चाहिए। वो एक अपराधी है और उसे सजा मिलनी चाहिए। यह एक जघन्य घटना है और इसके लिए माफी नहीं मिल सकती। इस घटना की सीबीआई से जांच होनी चाहिए। एक स्पेशल कोर्ट की स्थापना कर स्पीडी ट्रायल हो और तीन महीने के अंदर दोषियों को सजा मिले। बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव पर हमला बोलते हुए जाप अध्यक्ष ने कहा कि तेजस्वी यादव समेत पूरा विपक्ष मधुबनी गोली कांड को जातिय रंग देने में लगा हुआ है। जाति कार्ड खेलकर वो समाज में उन्माद फैलाना चाहते हैं और अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकना चाहते हैं। लेकिन हम उन्हें उनके मकसद में कामयाब नहीं होने देंगे। 

सरकार से आग्रह करते हुए जाप अध्यक्ष ने कहा कि मृतक असिस्टेंट कमांडेंट के किसी परिजन को सरकारी नौकरी मिले और उनकी पांचों बेटियों के नाम पर 50-50 लाख रुपये जमा कराया जाना चाहिए। पारस अस्पताल में भर्ती छठें जख्मी पीड़ित की स्थिति गंभीर है। सरकार जल्द उन्हें एम्स में भर्ती कराएं। जाप ने उनके इलाज के लिए दो लाख रुपये की मदद की जाएगी। सरकार की संवेदनशीलता पर सवाल खड़े करते हुए पप्पू यादव ने कहा कि बिहार में कहीं भी हत्या होती है तो सरकार से पीड़ितों को मदद नहीं मिलती। हर बार पप्पू यादव और जन अधिकार पार्टी पीड़ितों की आर्थिक मदद करती है। नवादा में जहरीली शराब से मरने वाले हर व्यक्ति के परिवार को पार्टी की ओर से 20-20 हजार रुपया दिया जाएगा।

राज्य में कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर सरकार द्वारा लिए गए फैसलों की आलोचना करते हुए पप्पू यादव ने कहा कि यह गरीबों पर हमला है। लोग कोरोना से ज्यादा सरकार की गलत नीतियों और फैसलों के कारण मर रहे हैं। स्कूल और कोचिंग बंद क्यों हैं? बच्चे पढ़ नहीं पा रहे हैं लेकिन स्कूल वाले फीस ले रहे हैं। वैक्सीन के निर्यात पर रोक लगाने की मांग करते हुए जाप अध्यक्ष ने कहा कि जब हमारे देश में ही वैक्सीन की कमी है तो दूसरे देशों में इसका निर्यात क्यों किया जा रहा है? वैक्सीन के निर्यात पर तत्काल प्रभाव से रोक लगनी चाहिए और केंद्र सरकार को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि सभी राज्यों में पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन उपलब्ध हो।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।