Breaking News

Bihar Weather Update: उत्तर बिहार में आंधी-पानी से तबाही, वज्रपात से 1 की मौत, फसलों को भी नुकसान, कई घरों के उड़े छप्पर

 


उत्तर बिहार में गुरुवार की अहले सुबह आंधी पानी से कई जिलों में भारी तबाही हुई है। कई इलाकों में तार पर पेड़ गिरने से बिजली गुल हो गई। इससे लोगों को पानी की भी किल्लत झेलनी पड़ी। आंधी से सबसे ज्यादा तबाही पूर्वी चम्पारण जिले में हुई। यहां तेज हवा में कई घरों के छप्पर उड़ गए।

पताही प्रखंड की बोकानेकला पंचायत के अमरिया टोला गांव में  वज्रपात से एक युवक की मौत हो गई। वज्रपात से उसकी पत्नी जख्मी हो गयी। पश्चिमी चम्पारण और सीतामढ़ी व शिवहर में फसलों को काफी नुकसान पहुंचा है। वहीं दरभंगा व समस्तीपुर में तेज हवा व बारिश से मौसम सुहावना हो गया।

पूर्वी चम्पारण में आंधी पानी से गेहूं के साथ-साथ मक्के की फसल की क्षति हुई है। आंधी से आम व लीची के साथ केला को नुकसान पहुंचा है। आंधी से अरेराज में पेड़ गिरने से उसमें दबकर एक भैंस मर गई और गृहस्वामी घायल हो गया। आंधी इतनी तेज थी कि घरों के छप्पर तक उड़ गए।

इधर, मुजफ्फरपुर-नरकटियागंज रेलखंड के जीवधारा-मधुछपरा के बीच आंधी में इलेक्ट्रिक लाइन पर पेड़ की डाली गिर जाने से ट्रेनों का परिचालन सुबह नौ बजे तक बाधित रहा। इसके कारण मिथिला एक्सप्रेस सहित अन्य ट्रेनें जहां-तहां फंसी रही। जिला कृषि पदाधिकारी चंद्र देव प्रसाद ने बताया कि फसल की क्षति आकलन करने के लिए प्रखंड कृषि पदाधिकारियों को निर्देश दिया गया है।

पश्चिम चम्पारण के नौतन व योगापट्टी प्रखंडों में तेज आंधी पानी से फसलों को काफी नुकसान पहुंचा है। करीब चार बजे सुबह एक घंटे तक चली तेज आंधी व बारिश से आम व मक्के के फसल को नुकसान पहुंचा है।

सीतामढ़ी जिले में आंधी-पानी से आम-लीची को काफी नुकसान पहुंचा है। कुछ इलाके में खेत में कटाई कर रखी गई गेहूं की फसल भींग गई। बारिश से एक जहां लोगों को गर्मी से राहत मिली है, वहीं दूसरी ओर कच्ची सड़कों पर कीचड़ उत्पन्न हो गया है। जिससे लोगों को आवागमन में परेशानी हो रही है। वहीं कुछ फुस के घरों को नुकसान हुआ है।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।