Breaking News

Bihar Crime: जीजा के प्यार में पागल साली ने पति को अगवा कर मार डाला, पुलिस ने किया खुलासा

 


बिहार के पूर्णिया जिले के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के कालीगंज के साइकिल दुकानदार युवक मो. बाबुल की अपहरण कर हत्या करने के मामले में पुलिस ने मृतक की पत्नी तथा साढू मो. चांद को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया। बताया जाता है कि मृतक की पत्नी एवं साढू के बीच प्रेम प्रसंग था। इसलिये रास्ते से हटाने के लिए उसकी हत्या करवा दी गई। मामले में कुल पांच को अभियुक्त बनाया गया है।

जानकारी के अनुसार साइकिल मिस्त्री के अपहरण मामले का खुलासा पुलिस ने 24 घंटे के अंदर कर दिया है। इस मामले में पुलिस ने साइकिल मिस्त्री मो. बाबुल का शव धमदाहा थाना क्षेत्र के समीप से बुधवार अहले  सुबह ही बरामद कर लिया था। 

घटना का खुलासा करते हुए मुफस्सिल थानाध्यक्ष आदित्य कुमार झा ने बताया कि साईकिल मिस्त्री मो. बाबुल की पत्नी अपने जीजा मो. चांद से प्यार करती थी। जो नवगछिया तुलसीपुर का रहने वाला है। उन्होंने बताया मृतक  की पत्नी ने जीजा के साथ प्लानिंग के तहत उनकी हत्या करवाई। घटना में शामिल मो. चांद को पुलिस नवगछिया स्थित उनके घर से ही गिरफ्तार कर लिया गया है। घटना में प्रयुक्त किए गए गाड़ी को भी पुलिस ने बरामद कर लिया है। 

थानाध्यक्ष ने बताया कि मो. चांद टीपी पर गाड़ी चलाता था। इसी क्रम में वह एक व्यक्ति का गाड़ी लेकर आया और बाबुल को गाड़ी में बैठाकर धमदाहा की तरफ लेकर गया। धमदाहा थाना से कुछ किलोमीटर की दूरी पर गला दबाकर उनकी गाड़ी में ही हत्या कर दी और शव को सड़क किनारे फेंक कर घर चला गया था। इस मामले को लेकर मृतक की पत्नी से वह फोन पर लगातार संपर्क में भी था, और दोनों काफी खुश भी थे कि रास्ते से बाबुल को हटा दिया गया है। 

मृतक मो. बाबुल की शादी आठ माह पूर्व सरसी के समीप के गांव में हुई थी, और उनकी पत्नी कुछ दिनों से अपने ससुराल मुफस्सिल थाना क्षेत्र के कालीगंज में ही रह रही थी। घटना के दिन भी वह अपने ससुराल में ही थी, और जब बाबुल को उनके साढू ने गाड़ी पर अपहरण कर ले कर चला गया था तो वह रोने पीटने का नाटक भी कर रही थी। लेकिन पुलिस को उनके इस करतूत पर शक हुआ था। जब वैज्ञानिक अनुसंधान के जरिए जांच पड़ताल शुरू की गई तो पुलिस को इस मामले में कई सुराग हाथ लगा, और पुलिस ने महज 15 घंटे के अंदर ही हत्यारे तक पहुंच गई थी। इस मामले को लेकर खुलासा कर दिया है। हत्या के संदर्भ में बताया जाता है कि इसमें अन्य लोग भी शामिल थे।

प्यार पर पहरा लगाने को हुई थी पंचायती
मृतक के मामा ने बताया कि पूर्व में भी इस मामले को लेकर पंचायती हुई थी। लड़की पक्ष के द्वारा लगातार इस मामले को छुपाया गया। जिसकी वजह से बाबुल की हत्या हो गई। हालांकि इस घटना के बाद से दोनों परिवार के लोग स्तब्ध हैं। आसपास के लोग भी इस मामले में कुछ भी बोलने से परहेज कर रहे हैं। स्थानीय कालीगंज के रहने वाले दर्जनों लोगों ने बताया कि बाबुल काफी मृदु स्वभाव का था और किसी से कभी कोई झगड़ा भी नहीं हुआ था। पत्नी से उनके अच्छे संबंध थे और वह अपनी पत्नी को बहुत प्यार भी करता था। लेकिन पत्नी ने अपने जीजा से प्यार के चक्कर में पति की हत्या करवा दिया। थानाध्यक्ष ने बताया कि पत्नी ने अपने जीजा से मिलकर हत्या करवा दी।

सदर एसडीपीओ आनंद कुमार पांडे ने बताया मृतक के पत्नी व उनके जीजा को गिरफ्तार किया गया है। इस हत्याकांड के खुलासे में मुफस्सिल थानाध्यक्ष आदित्य कुमार व पूर्णिया पुलिस का अहम भूमिका रही है। उन्होंने बताया कि अन्य तीन अभियुक्त की गिरफ्तारी हेतु छापेमारी जारी है।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।