Breaking News

Bihar Corona Update: बंद हो गए मंदिरों के दरवाजे, सूने पड़े शिवालय, मंदिर के बाहर से भक्तों ने लगाई भगवान के समक्ष हाजिरी

 


कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बाद राजधानी के मंदिरों व अन्य पूजा स्थलों के दरवाजे भक्तों के लिए बंद कर दिए गए। पटना जंक्शन के पास महावीर मंदिर, राजवंशी नगर मंदिर और खाजपुरा शिव मंदिर सहित सभी मंदिरों पर पुजारियों के अलावा अन्य लोगों के प्रवेश को वर्जित कर दिया गया। बोरिंग रोड चौराहा मंदिर, पंचशिव मंदिर सहित अन्य मंदिरों की भी यही स्थिति रही। हालांकि मंदिरों के पास भक्त पहुंचे और परिसर के बाहर से ही प्रणाम कर लौट गए।

पटना जंक्शन स्थित महावीर मंदिर में भी भक्तों का प्रवेश शनिवार से बंद हो गया। मंदिर प्रशासन की ओर से भक्तों को नैवेद्यम मिलता रहे, इसके लिए विशेष व्यवस्था की गई है। महावीर मंदिर न्यास के सचिव आचार्य किशोर कुणाल ने बताया कि मंदिर के प्रवेश द्वार पर स्थित सभी नैवेद्यम काउंटर सुबह से शाम 7 बजे तक खुले रहेंगे। शनिवार को निर्धारित अवधि में श्रद्धालुओं ने नैवेद्यम खरीदा और मंदिर के बाहर से ही महावीर हनुमान जी को निवेदित किया। सिन्दूर-सिंगार और महामृत्युंजय जाप के लिए व्यवस्था है लेकिन मंदिर के अंदर केवल पुजारी यह पूजा करेंगे। इसकी रसीद के लिए निकास द्वार के पास काउंटर खोला गया है। भक्त हनुमान जी का जियो टीवी पर ऑनलाइन दर्शन भी कर सकते हैं।

राजवंशी नगर मंदिर में केवल पहुंचे प्रधान पुजारी
राजवंशीनगर स्थित मंदिर में सुबह से भक्तों के प्रवेश पर रोक रही। सुबह में मंदिर के पुजारी संतोष कुमार तिवारी ने पूजा अर्चना की। दोपहर में दो घंटे के लिए मंदिर का पट बंद रहा। हालांकि मुख्य गेट पर दिनभर ताला लटका रहा और परिसर में किसी को प्रवेश की इजाजत नहीं दी गई। मंदिर के आसपास की दुकानों पर दोपहर में रहने वाली भीड़ में भी कमी दिखी। मंदिरों में भक्तों के प्रवेश की पाबंदी से पुजारी व स्थानीय दुकानदारों में भी मायूसी देखी गई। दुकानदारों ने कहा कि एक बार फिर से उनकी कमाई पर संकट आ गया है और घर चलाना मुश्किल हो गया है। हर दिन की कमाई से ही उनका घर खर्चा चलता है। 

खाजपुरा शिव मंदिर के पास सन्नाटा
बेली रोड पर स्थित एक अन्य मंदिर खाजपुरा शिव मंदिर में भी शनिवार को सरकारी निर्देशों का असर दिखा। मंदिर का मुख्य दरवाजा बंद रहा और वहां निर्देश चिपका दिया गया। मंदिर में पुजारी ने ही पूजा अर्चना की। आसपास फूल-माला की दुकानें खुली रहीं लेकिन भक्तों का टोटा रहा। शाम में मंदिर परिसर के पास पहुंचकर भक्तों ने भगवान का परिसर के बाहर से ही स्मरण किया। स्थानीय फूल की दुकानों को संचालित कर रहे लोगों ने इसे परीक्षा की घड़ी बताया। दुकानदारों ने कहा कि अब भगवान के शरण में हैं। वे ही उद्धार करेंगे। दिनभर छिटपुट फूलमाला की बिक्री हुई। 

नवरात्रि पर पूजा-प्रसाद की ऑनलाइन सुविधा
नवरात्रि पर महावीर मंदिर की ओर से पूजा और प्रसाद की ऑनलाइन व्यवस्था की गई है। इस सुविधा का लाभ अभी पटना के निवासी ले सकते हैं। गूगल के माध्यम से फोन नं 9334467800, Naivedyam Division पर 500 रुपये की राशि का भुगतान करेंगे और वाट्सएप नंबर 9334467800 पर अपना नाम, पिता का नाम, गोत्र, आराध्य देवी/देवता का नाम और पता भेजेंगे। मंदिर प्रबंधन की ओर से बताया गया कि महावीर मंदिर के पुजारी भक्त का नाम, गोत्र आदि के साथ संकल्प कर संबंधित आराध्य की पूजा करेंगे और एक किलो नैवेद्यम प्रसाद सिन्दूर आदि के साथ भक्त के पते पर भेज दिया जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।