Breaking News

बेऊर जेल के डिवीजन वार्ड के टूटे टॉयलेट से मोबाइल बरामद, 3 घंटे तक चला सर्च अभियान, चप्पे-चप्पे की ली गई तलाशी

 


बेऊर जेल में कड़ा शिकंजा कसा जा रहा है। जेल आईजी मिथिलेश मिश्र के निर्देश पर जेल प्रशासन द्वारा बीते शुक्रवार की देर शाम 7 से 10 बजे तक जेल के सभी खंडों व वार्डों में सर्च अभियान चलाया गया। इस दौरान चप्पे-चप्पे की तलाशी ली गई। डीप मेटल डिटेक्टर से की गई जांच में डिवीजन वार्ड के टूटे टॉयलेट में छिपाया गया बिना सिम कार्ड का एक मोबाइल जब्त किया गया। कई जगहों से खैनी की डिब्बी, ताश के पत्ते व अन्य सामान भी बरामद किये गये। मोबाइल बरामदगी के मामले में जेल प्रशासन की ओर से अज्ञात बंदियों के खिलाफ बेऊर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। 

डिवीजन वार्ड में रहते हैं राजनीतिक बंदी
डिविजन वार्ड में राजनीतिक बंदियों को ही रखा जाता है। बीते दिनों तीन मार्च को डिविजन वार्ड की जांच के दौरान पूर्व सांसद विजय कृष्ण के सेल से टीम ने जियो का एक सिम कार्ड बरामद किया था। इसके अलावा लावारिस हालत में पड़े दो मोबाइल फोन के साथ ही एक रजिस्टर की बरामदगी की गयी थी। इस रजिस्टर में कई लोगों के मोबाइल नंबर अंकित थे। इतना ही नहीं आठ अप्रैल को छापेमारी के दौरान तीन मोबाइल फोन को जेल प्रशासन ने बरामद किया था। तीनों मोबाइल फोन जमीन में गाड़े हुए थे। 

बता दें कि 30 मार्च को जेल के गेट पर जांच के दौरान बंदी मंटू यादव के लिए आये जिंस पैंट के पॉकेट से एक पिस्टल का मैगजीन बरामद की गई थी। इस मामले में बेऊर जेल के गृहरक्षक देवेंद्र यादव उर्फ चवन्नी, मंटू यादव व उसके दो अन्य साथियों के खिलाफ बेऊर थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी और एक कक्षपाल को निलंबित कर दिया गया था। इस मामले के सामने आने के बाद ही जेल प्रशासन ने मेटल डिटेक्टर से जांच कराने का निर्णय ले लिया था और पटना पुलिस से बम स्कवॉयड के दस्ते को जांच के लिए भेजने का अनुरोध किया था।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।