Breaking News

अब छपरा जंक्शन पर 24 घंटे होगी यात्रियों की कोरोना की जांच: सिविल सर्जन



तीन शिफ्ट में कर्मियों की हुई तैनाती


• सिविल सर्जन ने की स्वास्थ्य कर्मियों की प्रतिनियुक्ति


• महाराष्ट्र से आने वाले यात्रियों पर होगी विशेष निगरानी


छपरा, 10 अप्रैल। कोरोना संक्रमण  के रोकथाम एवं बचाव के लिए जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के द्वारा सकारात्मक कदम उठाए जा रहे हैं।  दूसरे राज्यों से आने वाले यात्रियों की कोविड-19 की जांच व्यापक स्तर पर की जा रही है।  इसी कड़ी में सिविल सर्जन डॉ जनार्दन प्रसाद सुकुमार ने ट्रेन से दूसरे राज्यों से आने वाले यात्रियों की कोविड 19 की जांच के लिए छपरा जंक्शन पर 24 घंटे जांच करने का निर्देश दिया है। इसको लेकर सिविल सर्जन ने तीन शिफ्ट में चिकित्सा कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की है। सिविल सर्जन ने निर्देश दिया है कि दूसरे राज्यों से रेल मार्ग से आने वाले व्यक्तियों की कोविड-19 का जांच अचूक रूप से स्वस्थ समय उपस्थित होकर करना सुनिश्चित करेंगे। प्रतिनियुक्त चिकित्सक एवं कर्मी यूनिफार्म तथा परिचय पत्र के साथ उपस्थित रहेंगे।  ससमय उपस्थित नहीं होने वाले चिकित्सक एवं कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 



इन चिकित्सा कर्मियों की हुई प्रतिनियुक्ति:


सिविल सर्जन डॉ जनार्दन प्रसाद सुकुमार ने बताया कि छपरा जंक्शन पर सुबह 6:00 बजे से दोपहर 2:00 बजे तक डॉ विनोद कुमार, आयुष चिकित्सक गरखा, देवंती कुमारी, एएनएम एकमा,  बबीता कुमारी, एएनएम जलालपुर,  मुकुंद कुमार, लिपिक, मढौरा,  उमेश प्रसाद सिंह, लिपिक बनियापुर, आशीष सेन गुप्ता, लिपिक गरखा को प्रतिनियुक्त किया गया है । वहीं दोपहर 2:00 बजे से रात्रि 10:00 बजे तक डॉ गुंजन कुमार आयुष चिकित्सक मढौरा,  स्नेहलता कुमारी एएनएम, दिघवारा, संजय कुमार शर्मा लिपिक मढौरा,  प्रमोद कुमार राम, लिपिक माझी,  सत्येंद्र कुमार सिंह, लिपिक बनियापुर को ड्यूटी लगाई गई है। वहीं रात्रि 10:00 बजे से सुबह 6:00 बजे तक डॉ हरीकिशोर निराला, आयुष चिकित्सक परसा,  मनोज कुमार लिपिक, अमनौर, रामसागर प्रसाद, लिपिक एकमा,  रामप्रसाद लिपिक दरियापुर को प्रतिनियुक्त किया गया है। 



एंबुलेंस की सुविधा कराई गई उपलब्ध:


सिविल सर्जन डॉ जनार्दन प्रसाद सुकुमार ने निर्देश दिया है कि 102 एंबुलेंस की एक एंबुलेंस छपरा जंक्शन पर सुबह 5:00 से कार्य समाप्ति तक उपलब्ध  रहेगा। सिविल सर्जन ने सदर अस्पताल के उपाधीक्षक को निर्देश दिया है कि चिकित्सकीय दल को आवश्यक सामग्री, जांच किट, उपकरण, मास्क ग्लब्स, सैनिटाइजर, थर्मल स्कैनर उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे।  इसके साथ ही रोस्टर के अनुरूप तीनों शिफ्ट में 3- 3 लैब टेक्नीशियन सदर अस्पताल से छपरा जंक्शन पर प्रतिनियुक्त किए जाएंगे।



जाँच कराने के लिए किया जा रहा है जागरूक :

सीएस ने कहा कि हर हाल में बाहर से आने वाले शत-प्रतिशत लोगों की जाँच सुनिश्चित हो, इसके लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा जाँच कराने के लिए लोगों जागरूक भी किया जा रहा है। दरअसल, आशंका है कि कई लोग निजी वाहनों से भी घर आएँगे। ऐसे लोगों को जाँच कराने के लिए जागरूक एवं चिन्हित कर स्थानीय पीएचसी को रिपोर्ट उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी आशा कार्यकर्ता को दी गई है। ताकि जाँच से एक भी लोग वंचित नहीं रहें।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।