Breaking News

15 लोगों के घर उजड़ने के बाद पुलिस की बड़ी कार्रवाई, चार शराब माफियाओं को किया गिरफ्तार

 


नवादा में जहरीली शराब पीने से 15 लोगों की मौत मामले की विशेष जांच टीम (एसआईटी) छानबीन कर रही है। पुलिस ने शराब बनाने के लिए जिम्मेदार चार लोगों को गिरफ्तार किया है। इन चार लोगों पर जहरीली शराब बनाने का आरोप है। पुलिस का कहना है कि इन चार आरोपियों के यहां होली के दिन शराब पीने की वजह से 15 लोगों की मौत हो गई। जबकि चार अन्य की स्थायी रूप से आंखों की रोशनी चली गई है।

वहीं नवादा के एसपी डीएस सावलाराम का कहना है कि एसआईटी ने मंगलवार को खरडी बीघा गांव के सूरज चौधरी उर्फ कारु चौधरी, गोंदपुर के पप्पू यादव और बुधौल गांव के अनिल चौधरी और मंती देवी को गिरफ्तार किया है। एसपी ने कहा, 'आरोपियों ने स्वीकारा है कि वे अपने-अपने गांवों में शराब बनाने की इकाइयां चला रहे थे, जिसे उन्होंने होली के दिन गांव वालों को बेचा था।'

वहीं छापेमारी के बारे में एसपी ने कहा कि हमने खारीदी बिगहा, गोंदपुर और बुधौल गांव में कूड़े के विक्रेताओं की पहचान की। साथ ही नवादा के आसपास के अन्य हिस्सों में छापेमारी की। नालंदा और बेगूसराय जिले के आसपास के इलाकों में भी छापेमारी की गई है। नवादा के सिटी पुलिस स्टेशन में इस मामले के संबंध में 10 एफआईआर दर्ज की गई हैं।

जानकारी के अनुसार, होली के दिन नवादा के अलावा, बेगूसराय में दो व्यक्तियों और रोहतास जिलों में पांच व्यक्तियों की शराब पीने से मौत हो गई थी। जबकि बिहार में अप्रैल 2016 से शराबबंदी लागू है। इसके बावजूद राज्य में शराब तस्करी, अवैध शराब निर्माण और शराब की चोरी-छिपे बिक्री का कार्य जारी है।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।