Breaking News

बिहार: नवादा जहरीली शराब कांड में थम नहीं रही मौतें, दो और ने तोड़ा दम, मृतकों की संख्या बढ़कर 14

 


बिहार में शराबबंदी के बावजूद जहरीली शराब पीने से होने वाली मौतों का सिलसिला रूकने का नाम नहीं ले रहा है। नवादा जहरीली शराब कांड में लगातार मौतें हो रहीं हैं। लगातार चौथे दिन नवादा जहरीली शराब पीने के मामले में दो और लोगों ने दम तोड़ दिया है। इस तरह से जहरीली शराब पीने से मृतकों की संख्या बढ़कर अब 14 तक पहुंच गयी है। 

नवादा जहरीली शराब पीने से गंभीर रूप से बीमार दो लोगों की मौत शुक्रवार की सुबह हो गई है। इनमें से एक का सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। बता दें कि नवादा में जहरीली शराब पीने से चार दिनों में 14 लोगों की जान जा चुकी है। बता दें कि अब भी 12 से अधिक पीड़ितों का इलाज विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है। 


जहरीली शराब से अबतक दो की आंखों की रोशनी जा चुकी है
इससे पहले गुरुवार को तीन और लोगों ने गुरुवार को दम तोड़ा था। इनमें से दो की मौत नवादा सदर अस्पताल में हुई, जबकि एक ने पटना के एक निजी अस्पताल में दम तोड़ा। सभी मृतक नवादा नगर थाना क्षेत्र के रहने वाले थे। घटना में एक और व्यक्ति की आखों की रोशनी चली गयी थी। इस तरह अब तक दो की आंखों की रोशनी जा चुकी है। वहीं अब भी 12 से अधिक पीड़ितों का इलाज विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है। बता दें कि मामले में किरकिरी से बचने के लिए स्थानीय प्रशासन जहरीली शराब के पीने से हुई मौतें नहीं मान रहा है। उधर कई मृतकों के परिजन पुलिस और प्रशासन के डर से घर छोड़कर भाग गए हैं। यही नहीं, अफसरों के पहुंचने से पूर्व परिजनों ने सभी मृतकों के शवों का दाह संस्कार कर दिया। घटना में मारे गए दिनेश सिंह की पत्नी प्रियंका देवी ने बताया कि उनके पति बीमार नहीं थे। बाहर से पॉलिथीन वाली शराब पीकर आए थे और घर में उनकी मौत हो गई। वहीं, गोपाल कुमार के भाई चुनचुन कुमार ने बताया कि उसका भाई बाहर से शराब पीकर आया था। तबीयत बिगड़ने पर उसे डॉक्टर के पास लेकर गए, जहां उसकी मौत हो गई।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।