Breaking News

CSBC: बिहार पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा में नकल करते 6 अरेस्ट, पूछा गया मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से जुड़ा सवाल

 


CSBC Bihar Police Constable Exam 2021 : केंद्रीय चयन पर्षद (सिपाही भर्ती) की परीक्षा में टीएनबी कॉलेज केंद्र से दोनों पाली में छह छात्र पर्चे के साथ पकड़े गए। केंद्राधीक्षक ने छह छात्रों को निष्कासित करते हुए इसकी सूचना विश्वविद्यालय थाने को दे दी। इसमें एक लड़की और पांच लड़के है। एक शिक्षक ने बताया कि छात्रों के पास से जो पर्चा मिला है उसमें अधिकांश प्रश्नों के उत्तर लिखे थे। मगर यह कितना सही है यह जांच का विषय है। नकल करते पकड़े गए अभ्यर्थियों में सुल्तानगंज पेन के चंदन कुमार, घोघा से शबनम कुमारी, पीरपैंती बाखरपुर से बबलू कुमार यादव, सुल्तानगंज आदर्श नगर के बालमुकुंद कुमार शामिल हैं।

सिपाही भर्ती की परीक्षा 30 केंद्रों पर दो पाली में ली गई। पहली पाली में 12180 छात्र उपस्थित रहे जबकि 898 छात्र अनुपस्थित थे। वहीं तीन छात्रों को निष्कासित कर दिया गया। दूसरी पाली में 12212 छात्र उपस्थित रहे जबकि 866 छात्र अनुपस्थित रहे। दूसरी पाली में भी तीन छात्रों को निष्कासित किया गया। पिछली बार से सबक लेते हुए इस बार अभ्यर्थी दो घंटे पहले ही केंद्र पर पहुंचने लगे थे। केंद्र के भीतर प्रवेश से पहले छात्रों का तापमान लिया गया। साथ ही अंदर सोशल डिस्टेंसिंग के तहत छात्रों को बिठाया गया था।

बिहार के मुख्यमंत्री से जुड़ा पूछा गया प्रश्न:
टीएनबी, एमएम कॉलेज केंद्रों से परीक्षा देकर निकले छात्रों के चेहरे पर मायूसी दिखी। छात्रों ने बताया कि प्रश्न काफी कठिन थे। दो घंटे में 100 अंक के लिए 100 प्रश्न पूछे गये थे। मगर सभी प्रश्नों का जवाब कठिन था। विज्ञान से लेकर गणित, रिजनिंग और इतिहास विषय के प्रश्नों का जवाब छात्र ढूढ़ते रह गये। नवगछिया के दीपक और कहलगांव के मनीष ने बताया कि प्रश्न काफी कठिन पूछे गये थे। बिहार के मुख्यमंत्री से जुड़ा भी प्रश्न था। जिसमें पूछा गया था कि नीतिश कुमार पहली बार मुख्यमंत्री कब बने थे।

छात्रों के हाथों में दिखा पर्चा:
आधे दर्जन केंद्र के बाहर छात्रों के हाथ में पर्चा दिखा। मोबाइल से प्रश्न का मिलान करते हुए छात्रों ने बताया कि पहली पाली में प्रश्न मेल नहीं खाया। छात्रों ने बताया कि परीक्षा से पहले फर्जी पर्चा वायरल होता है। यही हाल दूसरी पाली में भी टीएनबी केंद्र के बाहर निकले छात्रों ने बताया। छात्रों ने कहा कि पर्चा के साथ आंसर की भी मिला था। उसी को देखकर सभी पर्चा तैयार किए थे। मगर प्रश्नों से यह मेल नहीं खाया।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।