Breaking News

BREAKING NEWS उल्टी दिशा में दौड़ी जनशताब्दीः छोटे-छोटे पत्थरों ने बचाया बड़ा हादसा, ऐसे रुकी ट्रेन

 


दिल्ली से टनकपुर जा रही पूर्णागिरि जनशताब्दी एक्सप्रेस के रोलडाउन होकर उल्टी दिशा में दौड़ने के बाद सही सलामत रुकने से सभी ने राहत की सांस ली है। ट्रेन के उल्टी दिशा में दौड़ने की सूचना मिलते ही रेलवे अफसर हरकत में आ गए। पीछे की ओर ट्रैक को खाली करा लिया गया। जिस ट्रैक पर ट्रेन उल्टी दिशा में दौड़ रही थी, उस पर छोटे-छोटे टुकड़े रखकर बड़ा हादसा होने से रोक लिया गया। 

बताया जा रहा है कि दिल्ली से पीलीभीत होकर टनकपुर जा रही पूर्णागिरि जन शताब्दी एक्सप्रेस टनकपुर में होम सिग्नल से जैसे ही गुजर रही थी वहां एक गाय ट्रेन की चपेट में आ गई। चालक दल ने ब्रेक लगाकर ट्रेन को रोका। इसके बाद जब ट्रेन को आगे बढ़ाने के लिए वैक्यूम खींचा गया तो आश्चर्यजनक रूप से ट्रेन टनकपुर जाने के बजाए विपरीत दिशा में (रोलडाउन)  चलने लगी। ट्रेन में सवार सभी 64 यात्री भी पीछे को जा रही ट्रेन को देखकर दंग रह गए। 

टनकपुर रेलवे स्टेशन के अधीक्षक डीएस दरियाल ने बताया कि ट्रेन रिवर्स होने की सूचना मिलते ही रेल कर्मियों को अलर्ट कर दिया गया था। ब्रेक फेल हो चुके थे। लिहाजा ट्रेक अवरुद्ध करके ही ट्रेन रोकना एकमात्र विकल्प रह गया था। बताया कि इसी के चलते रेलवे कर्मियों ने इस ट्रेक पर जगह-जगह छोटे-छोटे पत्थर बिछा दिए थे। इससे ट्रेन की रफ्तार धीरे-धीरे कम हो गई। रफ्तार कम होने पर ही ट्रेन रुक पाई। अधीक्षक के मुताबिक यदि ट्रेक पर बड़े पत्थर डाल दिए जाते तो ट्रेन के पलटने का खतरा हो सकता था।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।