Breaking News

Breaking News पटना की सड़कों पर RJD कार्यकर्ताओं ने मचाया उत्पात, तेजस्वी व तेजप्रताप हिरासत में

 


राजधानी पटना में मंगलवार को नए पुलिस कानून, बिहार की बिगड़ती कानून व्यवस्था, शिक्षा और रोजगार समेत कई अन्य मुद्दों को लेकर विधानसभा का घेराव करने सड़क पर उतरे राजद कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने जमकर लाठीचार्ज किया। विरोध में राजद कार्यकर्ताओं ने पुलिस पर पत्थर बरसाये। इसमें दोनों तरफ से दर्जनों लोगों को चोटें आई हैं। पटना की सड़कों पर भारी उपद्रव पत्थऱबाजी और लाठीचार्ज के दौरान तेजस्वी यादव और तेजप्रताप यादव पिकअप वैन पर हेलमेट लगाकर चल रहे थे। भारी हंगामे के बीच पुलिस ने तेजस्वी, तेजप्रताप समेत कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया। अंतिम सूचना मिलने तक पुलिस ने तेजस्वी और तेजप्रताप समेत अन्य कार्यकर्तओं को थाने ले जाया गया। 

इससे पहले आज सैकड़ों की संख्या में पार्टी कार्यकर्ता गांधी मैदान से विधानसभा के लिए कूच के लिए निकले। इन्हें रोकने के लिए पुलिस ने पर्याप्त व्यवस्था की थी और सभी को डाक बंगला चौराहे पर ही रोक दिया गया। इस दौरान तेजस्वी यादव सहित तमाम पार्टी नेता इस प्रदर्शन में शामिल थे। पार्टी कार्यकर्ता सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। वहीं बैरिकेडिंग तोड़कर आगे बढ़ने की कोशिश भी की गई।

पुलिस की ओर से उन्हें रोकने के लिए वाटर कैनन का इस्तेमाल किया गया। भीड़ को तितर-बितर करने की कोशिश की गई लेकिन कोई कामयाबी नहीं मिली। सारे कार्यकर्ता फिर से एकजुट होकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे और आगे बढ़ने लगे। इसके बाद डाक बंगला चौराहे पर पुलिस उन्हें रोक दिया और विधानसभा घेराव करने जा रहे लोगों पर खूब लाठियां बरसाई। 

तेजस्वी का आह्वान, रुकना नहीं, थमना नहीं, निरंकुश सत्ता के समक्ष झुकना नहीं
बता दें कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव के नेतृत्व में युवा राजद का आज बेरोजगारी, कानून व्यवस्था, महंगाई, भ्रष्टाचार, शिक्षा, स्वास्थ्य, संविदाकर्मी, शिक्षक अभ्यर्थियों की नियुक्ति सहित अन्य मुद्दों को लेकर विधानसभा का घेराव कार्यक्रम है। तेजस्वी यादव ने इस घेराव को लेकर सोमवार को ट्वीट कर आह्वान किया कि रुकना नहीं, थमना नहीं, निरंकुश सत्ता के समक्ष झुकना नहीं। उन्होंने कहा कि हम राजद के साथियों संग बेरोजगारी व अन्य मुद्दों के साथ बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस विधेक के गठन के विरोध में विधानसभा का घेराव करेंगे।

नीतीश सरकार से बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस विधेयक को वापस लेने की मांग
बता दें कि प्रदेश के तमाम विपक्षी दल के विधायकों ने नीतीश सरकार से बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस विधेयक को वापस लेने की मांग की है। विधायकों का कहना है कि इस विधेयक के जरिए बिहार पुलिस को कई सारे नए अधिकार दिए गए हैं। इसमें वारंट के बिना गिरफ्तारी के साथ-साथ हिरासत में मौत के मामले पर भी पुलिस के खिलाफ गंभीर मामला दर्ज नहीं करने की बात शामिल है। वहीं प्रस्तावित बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस विधेयक 2021 का विरोध जताते हुए जन अधिकार पार्टी (लो) अध्यक्ष राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने कहा कि इस कानून के खिलाफ वह हाईकोर्ट व सुप्रीमकोर्ट जाएंगे। जन आंदोलन भी करेंगे। आरोप लगाया कि बिहार सरकार लगातार जन विरोधी कानून सदन में ला रही है।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।