Breaking News

कोरोना के मामलों को देखकर एक्शन में प्रशासन, बाहर से आने वाले लोगों के लिए उठाया ये कदम

 


कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए जिला प्रशासन विशेष तौर पर ऐहतियात बरत रहा है। इसी कड़ी में होली में बिहार के बाहर से आने वाले लोगों की आज से विशेष ट्रैकिंग की व्यवस्था की गई है। पटना में स्थापित कोरोना कंट्रोल रूम गांव स्तर पर बनाई गई टीम के माध्यम से ट्रैकिंग की जाएगी।

अधिकारियों का कहना है कि 22 मार्च को होली स्पेशल ट्रेन बिहार आ रही है। इन ट्रेनों से बड़ी संख्या में लोग आएंगे। इसलिए रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड पर थर्मल स्क्रीनिंग एवं जांच की व्यवस्था की गई है। जिन लोगों की रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड में जांच या थर्मल स्क्रीनिंग हो पाएगा उनका पटना में ही विवरण ले लिया जाएगा। 

वहीं जिन लोगों की जांच नहीं हो पाएगी उनका पूरा विवरण गांव में आशा द्वारा लिया जाएगा, जिसमें संबंधित यात्रियों के नाम एवं मोबाइल नंबर तथा कहां से आए हैं, का ब्यौरा दर्ज किया जाएगा। महाराष्ट्र, केरल एवं अन्य कोरोना वायरस से प्रभावित राज्यों से आने वाले लोगों पर विशेष नजर रखी जा रही है। 

कोरोना वायरस की जांच में जिन लोगों में बीमारी की पुष्टि होगी, उन्हें गांव के नजदीकी क्वारंटाइन सेंटर या उनकी सहमति पर होम क्वारंटाइन में रखा जाएगा, लेकिन यदि तबीयत अधिक खराब है तो ऐसे लोगों को मेडिकल कॉलेजों में भर्ती कराया जाएगा। लोगों का पूरा विवरण लेने के बाद पटना में स्थापित करोना कंट्रोल रूम से उनकी नियमित सेहत की जानकारी ली जाएगी। ताकि तबीयत खराब होने की स्थिति में कंट्रोल रूम से एंबुलेंस भेजकर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया जा सके।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।