Breaking News

राज्य में लागू शराबबंदी कानून पर पटना हाईकोर्ट ने उठाए सवाल, एसपी को लगाई फटकार, मांगा जवाब

 


शराब की बड़ी खेप के साथ पकड़े गए गाड़ी के ड्राइवर के खिलाफ तय समय सीमा के भीतर आरोप पत्र दायर नहीं किए जाने पर जमानत का लाभ मिलने के मामले में पटना हाईकोर्ट ने जमुई के एसपी से जबाब-तलब किया है। कोर्ट ने एसपी को चार सप्ताह के भीतर स्पष्टीकरण दायर करने का आदेश दिया है।

कोर्ट ने एसपी से जानना चाहा है कि शराबबंदी कानून के तहत अब तक कितनी प्राथमिकी दर्ज की गई हैं और कितने केसों में तय समय सीमा के भीतर अनुसंधान का काम पूरा नहीं किए जाने का लाभ अभियुक्तों को मिला है। कोर्ट ने कहा है कि जमुई जिले में शराबबंदी कानून का कितना केस दर्ज किया गया और कितने केसों में पुलिस तय समय सीमा के भीतर अनुसंधान पूरी नहीं कर आरोप पत्र दाखिल की है। 

कोर्ट ने कहा कि एसपी यह भी बताएं कि किस कारण से तय समय सीमा के भीतर पुलिस अनुसंधान का काम पूरा नहीं कर पाती है। न्यायमूर्ति वीरेंद्र कुमार की एकलपीठ ने शमसुद्दीन अंसारी की ओर से दायर जमानत अर्जी पर सुनवाई की। मामले पर जैसे ही सुनवाई शुरू हुई कि अभियुक्त के वकील ने जमानत याचिका वापस लेने का अनुरोध कोर्ट से किया।

हालांकि कोर्ट ने अर्जी वापस लेने के अनुरोध को मंजूर करते हुए अर्जी वापस लेने का कारण जानना चाहा। अभियुक्त के वकील ने कोर्ट को बताया कि कानून के तहत तय समय सीमा के भीतर पुलिस आरोप पत्र दायर नहीं कर सकी। जिसका लाभ अभियुक्त को मिला और वह जमानत पर छूट गया।

इस बात पर कोर्ट ने हैरानी जताते हुए कहा कि आखिर क्या बात है कि शराबबंदी से जुड़े मामले में पुलिस तय समय सीमा के भीतर अनुसंधान पूरी नहीं कर पाती है। जबकि कई मामलों में पुलिस दो से तीन दिनों में अनुशंधान पूरी कर अभियुक्त को सजा दिला देती है। लेकिन शराब से जुड़े हैं मामलों में पुलिस अनुसंधान पूरी करने में देरी क्यों लगती हैं। 

कोर्ट का कहना था कि शराब का बड़ी खेप मामले में पुलिस अनुसंधान पूरी नहीं कर पाती हैं। जमुई थाना कांड संख्या 428/2020 में भी अभियुक्त को दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 167 का लाभ मिल गया। गौरतलब है कि गत गुरुवार को मुजफ्फरपुर जिले से जुड़े एक मामले में भी अभियुक्त को निचली अदालत से दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 167 के आरोप पत्र नहीं दायर नहीं किए जाने पर अभियुक्त को जमानत मिल गई थी।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।