Breaking News

घायल होने के बाद कोलकाता के अस्पताल में भर्ती करवाई गईं ममता बनर्जी, चुनाव आयोग ने मांगी पूरी रिपोर्ट

 


पश्चिम बंगाल के नंदीग्राम में चुनाव प्रचार के दौरान घायल होने के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को कोलकाता के एक अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। ममता नंदीग्राम के रियापारा इलाके में एक मंदिर के बाहर खड़ी हुई थीं, जिस समय उनके साथ यह घटना घटी। मुख्यमंत्री का आरोप है कि उन्हें धक्का दिया गया, जिसकी वजह से उनके एक पैर में चोट लग गई और सूजन आ गई। इस घटना के बाद चुनाव आयोग ने सक्रियता दिखाते हुए पूरे मामले की विस्तृत रिपोर्ट मांगी है।

चोटिल होने के बाद बनर्जी ने कहा कि मैं अपनी कार के बाहर खड़ी थी, जिसका दरवाजा खुला था। मैं वहां मंदिर में प्रार्थना करने जा रही थी। कुछ लोग मेरी कार के पास आए और दरवाजे को धक्का दिया। कार का दरवाजा मेरे पैर में लग गया। मुख्यमंत्री ने दावा किया कि चोट लगने की वजह से उनके पैर में सूजन आ गयी और उन्हें बुखार जैसा लग रहा है। उन्होंने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि घटना के समय मौके पर कोई स्थानीय पुलिस कर्मी मौजूद नहीं था।

नंदीग्राम से तृणमूल कांग्रेस के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ रहीं बनर्जी ने आरोप लगाया कि घटना के पीछे साजिश है। इस घटना के बाद सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े हो गये हैं क्योंकि मुख्यमंत्री को जेड-प्लस की सुरक्षा प्राप्त है। बनर्जी को रात्रि विश्राम नंदीग्राम में ही करना था, लेकिन उन्हें कोलकाता लाया गया। वह पिछले दो दिन से पूर्ब मेदिनीपुर जिले में प्रचार कर रही थीं। आज दिन में ही उन्होंने हल्दिया में नामांकन पत्र दाखिल किया था।

उधर, बीजेपी ने चुनाव आयोग से मामले की उच्चस्तरीय जांच करवाने की मांग की है। बंगाल में बीजेपी प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट किया, ''मैं महांकाल की नगरी में हूं। मुझे अभी जानकारी प्राप्त हुई है कि ममता जी को चोट आई है। मैं बाबा महाकाल से उनके जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं। इस घटना पर राजनीति ना हो इसलिए चुनाव आयोग इसकी उच्चस्तरीय जांच करवाए। यदि कोई दोषी है तो उसे कड़ी से कड़ी सजा दी जाए।''

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।