Breaking News

बिहार पंचायत चुनाव में होगी एक महीने की देरी, इस वजह से लिया गया फैसला

 


बिहार में पंचायत चुनाव को लेकर जहां पार्टियां पूरी तरह से तैयारियों में जुटी हुई हैं। वहीं अब खबर है कि चुनाव के कार्यक्रम में एक महीने की देरी होगी। तमाम कोशिशों के बावजूद राज्य निर्वाचन आयोग अब मार्च के अंतिम सप्ताह से पहले चुनावी तारीखों का ऐलान नहीं कर सकता। ऐसा आयोग की तरफ से राज्य निर्वाचन आयोग को एम3 जेनरेशन की ईवीएम खरीद को लेकर एनओसी नहीं दिए जाने के कारण हो रहा है।

दरअसल, राज्य निर्वाचन आयोग एम3 जेनेरेशन की ईवीएम खरीद के लिए भारत निर्वाचन आयोग से एनओसी मांग रहा है। इसके लिए पत्र भी लिखा जा चुका है। समय पर ईवीएम नही मिलने के कारण चुनाव की प्रक्रिया अबतक शुरु नहीं हुई है। आयोग ने इस संबंध में हाईकोर्ट में मामला दाखिल कर रखा है और आयोग से सीधे संपर्क में भी है। हाल ही में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए राज्य निर्वाचन आयोग ने भारत निर्वाचन आयोग से ईवीएम की फिर मांग की है।

जून में खत्म हो रहा है कार्यकाल
बिहार के त्रिस्तरीय पंचायती राज संस्थाओं का कार्यकाल जून में खत्म हो रहा है। इसके मद्देनजर राज्य निर्वाचन आयोग ने अप्रैल से मई तक चुनाव संपन्न करवा लेने की योजना बनाई थी। इसी कड़ी में फरवरी के अंत तक तारीखों का ऐलान किया जाना था लेकिन अब तक ईवीएम की खरीद नहीं हो सकी है। लिहाजा न तो तारीखों की घोषणा हो पाई है और न ही अधिसूचना जारी हुई है। आयोग की मानें तो एनओसी न मिलने की वजह से पंचायत चुनाव में एक महीने की देरी हो सकती है।

गुंडों व बवालियों पर पुलिस कसेगी शिकंजा
शांतिपूर्ण माहौल में चुनाव संपन्न कराने के लिए पुलिस हर स्तर पर कार्रवाई करने के लिए जुट गई है। इस कड़ी में एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने गुंडों व बवालियों पर अभी से ही शिकंजा कसने के लिए थानेदारों को कड़े निर्देश दिए हैं। साथ ही अवैध हथियारों की बरामदगी तथा विभिन्न मामलों में फरार चल रहे अपराधियों की हर हाल में गिरफ्तार करने को कहा है।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।