Breaking News

Bihar Road Accident: बेतिया में अनियंत्रित कार ट्रॉली से टकरायी, 3 की मौत, शादी समारोह से वापस लौट रहे थे घर

 


लौरिया- बेतिया पथ पर बनकटवा स्कूल के समीप सोमवार की रात करीब 12 बजे तेज रफ्तार कार अनियंत्रित होकर गलत साइड जाकर खड़े ट्रॉली से जा टकरायी। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि कार के परखचे उड़ गए और उसमें सवार तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। सभी मृतक पूर्वी चम्पारण के रहने थे। 

लौरिया थनाध्यक्ष राजीव कुमार रजक ने बताया कि मृतकों में हरसिद्धि थाना के उज्जैन लोहियार सिंगहा निवासी शफीक अंसारी के पुत्र लुकमान हकिम (22) व पकड़िया गांव के शफीक अंसारी के पुत्र आशिक एकबाल (26) और पहाड़पुर के इनरवाभार निवासी सुनील कुमार के पुत्र सूरज कुमार (23) शामिल हैं। शवों को पोस्टमार्टम के बाद मंगलवार को परिजनों को सौंप दिया गया। थानाध्यक्ष ने बताया कि रात करीब 12 बजे सूचना मिली कि बनकटवा स्कूल के पास एक कार अनियंत्रित होकर ट्रॉली से टकरा गयी है। सूचना पर पुलिस टीम मौके पर पहुंची तो देखा कि कार के परखचे  उड़ गए थे। तीनों लोगों की मौत घटनास्थल पर हो गयी थी। उसमें शव फंसे हुए थे। 

कार की टक्कर से टूट गया था ट्रॉली का धूरा:
थानाध्यक्ष ने बताया कि कार की रफ्तार इतनी थी कि उसकी टक्कर से ट्रॉली का टायर धूरा से टूटकर अलग हो गया। ट्रॉली भी पलट गयी थी। उस वक्त ग्रामीणों के सहयोग से शवों को बाहर निकाला गया। शव के कपड़े से बरामद कागजात के आधार पर मृतकों की पहचान कर परिजनों को सूचना दी गयी। शव को रात में ही वहां से लाकर थाने में रखा गया था। मंगलवार की सुबह मृतक के परिजन लौरिया थाना पहुंचे तब शव को पोस्टमार्टम के लिए बेतिया भेजा गया। मृतक सूरज के भाई ने बताया कि तीनों आपस में दोस्त थे। वे लोग किसी शादी समारोह में शामिल होने के लिए नरकटियागंज गए थे। 

टक्कर की आवाज से ऐसा लगा दरवाजा पर बम फटा हो:  
बनकटवा स्कूल के पास रहने वाले हरिहर साह व श्री महतो के घर के लोग गहरी नींद में सोये हुए थे। हरिहर साह के दरवाजे पर ईंट का ढेर था। वहीं पर ट्रॉली खड़ी थी। हरिहर साह ने बताया कि लगभग 12 बजे रात में जोरदार आवाज के साथ घर दहल गया। ऐसा लगा कि दरवाजे पर बम विस्फोट हुआ है। सभी परिजन डर के मारे सहम गए। थोड़ी देर बाद घर से निकले तो देखा कि ट्रॉली उलट गयी है। उसका पहिया भी टूट कर अलग हो गया था। बिजली का खंभा टूट गया था। तब नजर पड़ी की एक कार दुर्घटनाग्रस्त हुई है। आवाज सुनकर अन्य ग्रामीण भी दौड़े आये। ग्रामीणों ने इसकी जानकारी लौरिया थानाध्यक्ष को दी। फिर पुलिस की टीम मौके पर पहुंची। टक्कर इतनी भयानक थी कि कार के परखचे उड़ गए थे। उसमें बैठे सूरज कुमार, लुकमान हकिम व आशिक एकबाल की मौत हो चुकी थी। उनके शव भी गाड़ी में फंसे हुए थे। काफी मशक्कत करने पर लगभग दो घंटे बाद तीनों शवों को कार से बाहर निकाला गया। 

किसी ने पति तो किसी ने खोया एकलौता बेटा :
पहाड़पुर के इनरवाभार निवासी सुनील कुमार के पुत्र सूरज कुमार की मौत दुर्घटना के दौरान हो गयी। सूरज की शादी महज चार माह पूर्व हुई थी। वहीं हरसिद्धि के उज्जैन लोहियार सिंगहा निवासी शफीक अंसारी के एकलौते पुत्र लुकमान हकिम की मौत भी इस घटना में हो गयी। परिजनों ने बताया कि लुकमान की पढ़ाई देवराज के एक मदरसा में हुई है। उसी मदरसा में पढ़ाने वाले एक व्यक्ति के परिवार में शादी थी। लुकमान हकिम अपने गांव से अपने दोस्त आशिफ एकबाल के साथ बाइक से निकला। वे लोग वहां से अपने दोस्त सूरज के घर इनरवाभार पहुंचे। वहां पर उनलोगों ने बाइक लगा दी। उसके बाद कार से नरकटियागंज में एक शादी समारोह में शामिल होने गए। शादी किसकी थी और कहा थी इसका पता किसी के परिजन को नहीं है।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।