Breaking News

Bihar Corona Update: हाई कोविड इंफेक्शन जोन महाराष्ट्र से तीन ट्रेनें आज रहीं बिहार, इस स्टेशन पर अलर्ट

 


महाराष्ट्र से आज तीन ट्रेनें बिहार आ रही हैं। तीनों ट्रेन पटना, पाटलिपुत्र और दानापुर जंक्शन पहुंचेंगी।  बता दें कि महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ रहे मामले को देखते हुए वहां के स्टेशन हाई कोविड इंफेक्शन जोन के रूप में घोषित किए गए हैं। नांगल डैम से कोलकाता के बीच चलने वाली होली स्पेशल ट्रेन भी सोमवार को पटना पहुंचेगी। यह ट्रेन सोमवार को सुबह साढ़े पांच बजे पटना जंक्शन आएगी।  

ये ट्रेनें आज आएंगी
गाड़ी संख्या 02141 लोकमान्य तिलक टर्मिनल पाटलिपुत्र स्पेशल ट्रेन सुबह तीन बजकर 50 मिनट पर पाटलिपुत्र जंक्शन पर आएगी। वहीं, गाड़ी संख्या 02149 पुणे दानापुर एक्सप्रेस स्पेशल सुबह दो बजकर 20 मिनट पर दानापुर आएगी। गाड़ी संख्या 03202 लोकमान्य तिलक टर्मिनल पटना स्पेशल रात 11 बजकर 55 मिनट पर पटना जंक्शन आएगी।

राज्यभर में जिला प्रशासन विशेष तौर पर एहतियात बरत रहा 
अधिकारियों का कहना है कि 22 मार्च को होली स्पेशल ट्रेनें बिहार आ रही हैं। इन ट्रेनों से दूसरे राज्यों से बड़ी संख्या में लोग आएंगे। इसलिए रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड पर थर्मल स्क्रीनिंग एवं जांच की व्यवस्था की गई है। जिन लोगों का रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड पर जांच या थर्मल स्क्रीनिंग हो पाएगी, उनका विवरण पटना में ही ले लिया जाएगा, लेकिन जिन लोगों का नहीं हो पाएगा उनका पूरा विवरण गांव में आशा के द्वारा लिया जाएगा। संबंधित यात्रियों के नाम एवं मोबाइल नंबर तथा वे कहां से आए हैं, का ब्योरा दर्ज किया जाएगा। महाराष्ट्र, केरल एवं अन्य कोरोना वायरस से प्रभावित राज्यों से आने वाले लोगों पर विशेष नजर रखी जा रही है। 

क्वारेंटाइन सेंटर या होम क्वॉरेंटाइन 
कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए राज्यभर में जिला प्रशासन विशेष तौर पर एहतियात बरत रहा है। इसी कड़ी में होली में बिहार के बाहर से आने वाले लोगों की सोमवार से विशेष निगरानी की व्यवस्था की गई है। पटना में स्थापित कोरोना कंट्रोल रूम गांव स्तर पर बनाई गई टीम के माध्यम से ट्रैकिंग करेगा। कोरोना वायरस की जांच में जिन लोगों में बीमारी की पुष्टि होगी, उन्हें गांव से नजदीकी क्वारेंटाइन सेंटर या उनकी सहमति पर होम क्वॉरेंटाइन में रखा जाएगा। यदि तबीयत अधिक खराब है तो ऐसे लोगों को मेडिकल कॉलेजों में भर्ती कराया जाएगा। लोगों का पूरा विवरण लेने के बाद पटना में स्थापित कोरोना कंट्रोल रूम से नियमित सेहत की जानकारी ली जाएगी।

सभी मेडिकल कालेजों में होगी आरटीपीसीआर जांच 
राज्य में कोरोना जांच की कार्रवाई को तेज करने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने जिलों को राज्य के मेडिकल कॉलेज अस्पतालों से जोड़ दिया है। राज्य सरकार के निर्देश पर 70 फीसदी जांच आरटीपीसीआर व ट्रू-नेट से कराए जाने को लेकर सभी 38 जिलों के लिए मेडिकल कॉलेज अस्पताल निर्धारित कर दिए गए हैं। जिलों के लिए उनके नजदीकी मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में कोरोना की जांच की व्यवस्था की गयी है ताकि जल्द रिपोर्ट मिले और संक्रमित व्यक्ति को चिन्हित कर उनकी इलाज की व्यवस्था जिले के अंदर ही की जा सके। स्वास्थ्य विभाग के तहत संचालित राज्य स्वास्थ्य समिति ने सभी जिलों के जिलाधिकारी व सिविल सर्जनों को निर्देशानुसार कार्रवाई करने को कहा है। विभाग के निर्देश के मुताबिक राज्य के सभी सरकारी व निजी मेडिकल कॉलेजों में कोरोना जांच होगी। 

राज्य स्वास्थ्य समिति के स्वास्थ्य सह कार्यपालक निदेशक  अपर सचिव मनोज कुमार ने बताया कि दूसरे राज्यों से सामान्य व विशेष सभी ट्रेनों से आने वाले यात्रियों की कोरोना जांच की जाएगी। रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट व बस स्टैंड में जांच टीम यात्रियों की स्क्रीनिंग कर कोरोना की जांच करेगी। 

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने बताया कि बिहार के बाहर से आने वाली विशेष ट्रेनों के यात्रियों की रैंडम कोरोना जांच की जाएगी। इसके लिए मेडिकल टीमों की तैनाती पटना, मुजफ्फरपुर, कटिहार सहित राज्य के विभिन्न प्रमुख रेलवे स्टेशनों पर की गयी है।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।