Breaking News

Bihar: मधुबनी में 10 साल की लड़की से रेप का प्रयास, वीडियो किया वायरल, हाथ जोड़कर गिड़गिड़ाती रही पीड़िता, नहीं पसीजा शोहदों का दिल

 



बिहार के मधुबनी जिले के हरलाखी थाना के एक गांव में घास काटने गई एक 10 वर्षीय लड़की के साथ शोहदे ने दुष्कर्म की कोशिश की। इस दौरान शोहदे के तीन दोस्तों ने उसका वीडियो बनाया और उसे वायरल कर दिया। घटना शुक्रवार शाम की है। घटना के दौरान लड़की चीखने लगी। शोर सुनकर आसपास के लोग दौड़े और एक आरोपित को पकड़ लिया। उसके पास से एक मोबाइल मिला, जिसमे अश्लील वीडियो और फोटो था। उसी वीडियो को आरोपितों ने वायरल कर दिया था। हरलाखी पुलिस ने लड़की को शनिवार दोपहर बाद मेडिकल के लिए भेज दिया।  

एफआईआर में दिए पीड़िता के भाभी के बयान के मुताबिक खेत से आ रही लड़की की चीख सुनकर वे लोग पहुंचे। घटनास्थल के भागते हुए एक आरोपित को पकड़ लिया गया। ग्रामीणों ने पुलिस को घटना की जानकारी दी और पकड़े गए आरोपित को पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने जब पूछताछ शुरू की तो सभी आरोपितों की पहचान कर ली गयी। त्वरित कार्रवाई करते हुए चारों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया। घटना के दौरान जख्मी लड़की का पीएचसी में इलाज करवाया गया। जहां पीड़िता की भाभी के बयान पर पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज की है।

बेनीपट्टी एसडीपीओ अरुण कुमार सिंह ने बताया कि आरोपियों ने दुष्कर्म का प्रयास किया है। मेडिकल रिपोर्ट में अन्य बातों का खुलासा होगा। घटना में संलिप्त सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस सभी आरोपियों को कठोर सजा दिलाने की प्रक्रिया में जुटी हुई है।
इधर, पीड़िता की मां का आरोप है कि आरोपितों ने बच्ची के साथ दुष्कर्म किया है। घटना के बाद मेरी मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी। इसलिए मेरी बहू से बयान लिया गया है। इधर, शुक्रवार की घटना के बाद पीड़ित लड़की को मेडिकल जांच के लिए शनिवार दोपहर बाद भेजे जाने पर स्थानीय थानाध्यक्ष की जवाबदेही पर सवाल उठने लगे हैं।

हरलाखी थाना क्षेत्र के एक गांव में चार शोहदों ने नाबालिग लड़की के साथ जिस घटना को अंजाम दिया गया उससे मानवता शर्मशार है। दुष्कर्म के प्रयास की घटना का वीडियो बनाया गया। उसे सोशल मीडिया पर जारी कर दिया। इस दौरान पीड़िता हाथ जोड़कर गिड़गिड़ाती रही, लेकिन शोहदों का दिल नहीं पसीजा। फिर वीडियो को वायरल भी कर दिया। हालांकि पुलिस ने सोशल मीडिया से वीडियो को हटवा दिया। पीड़िता की मां ने पत्रकारों को बताया कि मेरी बेटी आरोपियों से हाथ जोड़कर कह रही थी कि भाई जी हमे छोड़ दीजिए, यह गलत है। लेकिन इनलोगों हमारी बेटी की नहीं सुनी और उसके साथ गलत किया। बच्ची के कपड़े में भी खून लगा हुआ था। वह आरेापियों को फांसी की सजा देने की मांग कर रही थी।

एसडीपीओ ने की घटनास्थल की जांच
नाबालिग लड़की से दुष्कर्म के प्रयास की घटना की जांच एसडीपीओ अरुण कुमार सिंह ने की। उनके साथ थानाध्यक्ष प्रेमलाल पासवान भी थे। अधिकारियों ने घटनास्थल का जायजा लिया। घटनास्थल गेहूं का खेत है जहां फसल कुचली हुई है। एसडीपीओ ने जांच के दौरान स्थानीय चौकीदार से भी घटना के संबंध में जानकारी ली। एसडीपीओ ने कहा मानवता को शर्मशार करने वाली घटना को अंजाम देने की कोशिश की गयी है। दुष्कर्म का प्रयास कर रहे चारों आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इनको स्पीडी ट्रायल के तहत सजा दिलायी जाएगी। ऐसी घटनाओं से समाज को सबक लेने की आवश्यकता है। मौके पर एमएसयू के राघवेंद्र रमन, चौकीदार देवनारायण पासवान समेत अन्य ग्रामीण मौजूद थे।

सभी आरोपितों की गिरफ्तारी हो गयी है। मामले को स्पीडी ट्रायल में लाकर दोषियों को सजा दिलायी जाएगी।
- डॉ. सत्य प्रकाश, एसपी, मधुबनी

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।