Breaking News

जिलाधिकारी ने कोविड-19 के बढ़ते मामलों को लेकर सुरक्षित होली मनाने के दिए निर्देश



- जिले में कोरोना संक्रमण के मद्देनजर होली मिलन समारोह का नहीं होगा आयोजन

- बाह्य राज्य से लौटने वाले लोगों की  एंटीजन किट से  हो रही है जांच:


किशनगंज  17 मार्च| देश के विभिन्न राज्यों में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों और होली त्यौहार को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने कोविड-19 के प्रबंधन के लिए आवश्यक निदेश जारी किया है। इस आलोक में जिलाधिकारी डॉ आदित्य प्रकाश ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग एवं जिला प्रशासन  पूरी तरह से तैयार है| हर किसी के लिए जांच की सुविधा उपलब्ध है| कोरोना के इलाज की भी व्यवस्था है|  बाहर से आ रहे लोगों की कोरोना जांच के लिए रेलवे स्टेशन में 03 टीम तैनात की गयी है| यात्रियों की रैपिड एंटीजन किट के माध्यम से जांच की जा रही है | जिलाधिकारी ने कहा कि जो भी लोग जांच से छूट गए हैं उनसे मेरी अपील है कि अपनी कोरोना जांच जरूर करवा लें| उनके परिवारवालों से भी गुजारिश है कि वह घर पर बाहर से आने वाले लोगों की जांच जरूरी तौर पर करवा लें| 

चेकपोस्ट पर कोविड टेस्ट और वाहन की सुविधा उपलब्ध रहेगी-

जिलाधिकारी ने कहा कि चंद दिनों में होली का पर्व मनाया जाएगा। इसमें कोरोना प्रभावित उक्त प्रदेशों में रहनेवाले लोग भी जिला लौटेंगे| ऐसे में इस बार होली का पर्व काफी सतर्कता से मनाने की जरूरत है। साथ ही कांटैक्ट ट्रेसिग के लिए रजिस्टर बनाया गया है । इंट्री प्वाइंट स्थित चेकपोस्ट पर कोविड टेस्ट और वाहन की सुविधा उपलब्ध रहेगी। कोविड केयर सेंटर, सदर अस्पताल, पीएचसी, हेल्थ सेंटर, बस पड़ाव, मुख्य बाजार या अन्य भीड़भाड़ वाले स्थानों पर कोविड जांच की व्यवस्था रहेगी। जिला स्तरीय नियंत्रण कक्ष 24 घंटे काम करता रहेगा। सरकारी कार्यालयों में आने वाले लोगों का भी विजिटर रजिस्टर बनेगा। 


बाह्य राज्य से लौटने वाले लोगों की एंटीजन किट से  हो रही है जांच:

सिविल सर्जन डॉ श्री नंदन ने बताया कि  जिले के रेलवे स्टेशन पर महाराष्ट्र, केरल एवं पंजाब राज्यों से आने वाले यात्रियों को अनिवार्य रूप से कोविड-19 निगेटिव प्रमाण पत्र प्राप्त करने के पश्चात ही रेलवे स्टेशन के बाहर आने की अनुमति दी जायेगी । यदि कोई यात्री कोविड-19 के प्रमाण पत्र के साथ नहीं है तो उनकी जांच रैपिड एंटीजन के माध्यम से तत्क्षण कराया जाए और कोविड-19  जांच के फलाफल के आधार पर पृथकवास  के संबंध में निर्णय लिया जाए। यह व्यवस्था जिले में बुधवार से लागू की गयी है ।बाह्य राज्यों से आनेवाले यात्रियों की  भी जांच करायी जायेगी। इस आशय की सूचना विभिन्न एयरलाइन्स के माध्यम से  17 मार्च एवं उसके पश्चात आनेवाले यात्रियों तक पहुंचायी जाए। इन राज्यों से आनेवाले ट्रेनों के संबंध में भी सूचना प्राप्त कर यात्रियों की रैपिड एंटीजन किट के माध्यम से जांच करायें और फलाफल के आधार पर उचित निर्णय लिया जाए।


जिले के सभी पंचायतों में माइकिंग कर किया जाएगा प्रचार प्रसार:

जिले में जिन पंचायतों में भारी संख्या में अन्य राज्यों से यात्री आने की सम्भावना हैं उन पंचायतों में माइकिंग के माध्यम से कोविड-19 की जांच की अपील की जा रही है  तथा आरटीपीसीआर जांच हेतु सैम्पल लेने की व्यवस्था भी करायी गयी है । इस कार्य में  स्वास्थ्य विभाग के कर्मी  तथा पंचायत प्रतिनिधियों की मदद ली जा रही है ।


होली मिलन समारोह का आयोजन नहीं होगा

जिला पदाधिकारी डॉ आदित्य प्रकाश ने कहा  हर कदम पर कोरोना को लेकर पूरी सावधानी बरतें|, कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की ओर से लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। कोरोना संक्रमण को देखते हुए होली में सार्वजनिक स्थल पर किसी भी प्रकार के होली मिलन समारोह आयोजित नहीं किये जायेंगे।


फेस मास्क का प्रयोग आवश्यक है 

जिला पदाधिकारी डॉ आदित्य प्रकाश ने कहा कि संक्रमण से बचाव के लिए आमलोग सावधानी बरतने के लिए  घरों से बाहर निकलें तो फेस मास्क अवश्य लगाएं। सामाजिक दूरी का ख्याल रखते हुए बाजारों व अन्य संस्थाओं में काम करें। इस तरह की सावधानी बरत कर ही अपना, परिवार व समाज की संक्रमण से रक्षा कर सकते हैं। होली खेलने के दौरान किसी ऐसे स्थान पर न जाएं जहां भीड़ अधिक हो। होली की खुशियां बरकरार रखने के लिए जरूरी है कि हर कदम पर कोरोना को लेकर पूरी सावधानी बरतें। अपने हाथों को बार-बार पानी और साबुन से धोते रहें और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें। - वैक्सीन को लेकर स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा लोगों को किया जा रहा है जागरूक :-

 वैक्सीनेशन अभियान की सफलता को लेकर आशा कार्यकर्ता समेत अन्य स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा लोगों को जागरूक भी किया जा रहा है। ताकि समाज के प्रत्येक व्यक्ति उत्साह के साथ वैक्सीन करा सकें और अभियान का सफलतापूर्वक क्रियान्वयन हो सकें।


- वैक्सीनेशन के साथ एहतियात भी जारी रखें :- 

वैक्सीन लेने के बाद भी कोविड-19 से बचाव के लिए सुरक्षा के मद्देनजर आवश्यक एहतियात जारी रखना चाहिए। इसके लिए पूर्व की भाँति मास्क का नियमित उपयोग, हमेशा शारीरिक दूरी का पालन समेत अन्य गाइडलाइन का पालन जारी रखें। 


- इन मानकों का पालन कर कोविड-19 से रहें दूर : - 

- साबुन और पानी से हाथ धोएं या अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइजर  का इस्तेमाल करें।

- छींकते और खांसते समय अपनी नाक और मुंह को रूमाल या टिशू से ढकें ।

- घर से निकलते समय मास्क का इस्तेमाल जरूर करें।

- बातचीत के दौरान फ्लू जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों से कम से कम 6 फीट की दूरी बनाए रखें।

- मास्क को बार-बार छूने से बचें एवं मास्क को मुँह से हटाकर चेहरे के ऊपर-नीचे न करें।

- किसी बाहरी व्यक्ति से मिलने या बात-चीत करने के दौरान यह जरूर सुनिश्चित करें कि दोनों मास्क पहने हों।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।