Breaking News

सीएम नीतीश से मिलीं रूपेश की पत्नी, कहा- रोडरेज की बात पर यकीन नहीं, असली गुनहगार पकड़े जाएं और स्पीडी ट्रायल कर उन्हें दी जाए फांसी

 


इंडिगो के स्टेशन मैनेजर रूपेश सिंह की हत्या के 26 वें दिन उनकी पत्नी नीतू अपने बच्चों व परिजनों के साथ रविवार की दोपहर बाद सारण से पटना आयीं और सीएम से उनके आवास पर मुलाकात की। यहां डीजीपी, एसएसपी की मौजूदगी में सीएम के समक्ष परिजनों ने करीब डेढ़ घंटे तक घटना के बारे में बातचीत की और न्याय की गुहार लगाई। कहा कि हमें बस न्याय चाहिए। पूरे मामले में साजिशकर्ताओं के साथ असली गुनहगारों को पकड़ा जाए। स्पीडी ट्रायल चलाकर सभी आरोपितों को फांसी दी जाए। 

रूपेश के भाई नंदेश्वर सिंह ने कहा, पटना पुलिस से यदि न्याय नहीं मिला तो सीबीआई से जांच कराने के लिए सीएम से फिर गुहार लगाएंगे। जरूरत पड़ी तो कोर्ट का दरवाजा भी खटखटाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सीएम ने न्याय दिलाने का भरोसा दिया है। डीजीपी और एसएसपी ने भी कहा कि मुख्य आरोपित पकड़ा जा चुका है। जांच जारी है। आगे जो भी तथ्य सामने आएगा, उसके मुताबिक आगे की कार्रवाई की जाएगी। घटना में शामिल अपराधी किसी भी सूरत में बच नहीं पाएंगे।

रोडरेज की बात नहीं उतर रही गले
मैनेजर के भाई नंदेश्वर सिंह ने साफ कहा कि रोडरेज में यह वारदात हुई, अपराधी के इस कबूलनामे पर यकीन नहीं है। रोडरेज से जुड़ा पटना पुलिस के पास कोई ठोस साक्ष्य नहीं है। इस घटना के पीछे बड़ी साजिश रची गई है। पकड़ा गया अपराधी रितुराज हत्यारा हो सकता है लेकिन कहानी कुछ और हो सकती है। इसलिए इसकी गहन जांच की जानी चाहिए। 

एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने बताया कि सीएम से परिजनों की मुलाकात के दौरान मुझे भी बुलाया गया था। मैं छपरा जाकर मैनेजर की पत्नी समेत परिजनों से भी मिला था और उन्हें इस मामले में की गई कार्रवाई से भी अवगत कराया था। पुलिस मुख्य आरोपित रितुराज को गिरफ्तार कर चुकी है। फरार आरोपितों के पकड़े जाने पर जो भी मामला प्रकाश में आएगा, सबूत के साथ आगे की कार्रवाई की जाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।