Breaking News

मैट्रिक पर्चा लीक: परीक्षा रद करने पर भड़के छात्रों ने जमकर काटा बवाल, एक दर्जन से अधिक गाड़ियों में तोड़फोड़


पर्चा लीक होने के चलते बिहार बोर्ड ने शुक्रवार को 10 वीं कक्षा के लिए हुई सामाजिक विज्ञान की परीक्षा रद की है। इससे छात्रों का गुस्‍सा भड़क गया। आक्रोशित छात्र पटना के एएन कॉलेज के पास सड़क पर उतर आए। उन्‍होंने पत्‍थर चलाने शुरू कर दिए। उस वक्‍त उधर से गुजर रहीं कई गाड़ियों रोककर उनमें तोड़फोड़ की। इस दौरान कई राहगीरों को छात्रों के गुस्‍से का शिकार बनना पड़ा। छात्रों के गुस्‍से के चलते थोड़ी देर के लिए सड़क और आसपास के इलाके में भगदड़ की स्थिति पैदा हो गई। शुरू में छात्रों की संख्‍या काफी अधिक होने की वजह से पुलिस मूकदर्शक बनी रही। हंगामा अधिक बढ़ा तो पुलिस ने हल्‍का बल प्रयोग करके छात्रों को खदेड़ा।

गुस्‍साए छात्रों ने करीब आधे घंटे तक जमकर उत्‍पात मचाया। एक दर्जन से अधिक गाड़ियों को उन्‍होंने निशाना बनाया। राहगीरों की गाड़ियों को रोककर उनके शीशे तोड़ डाले। इस दौरान कई महिलाएं गाड़ी छोड़कर डर के मारे भागती नज़र आईं। बताया जा रहा है कि छात्रों ने एक गर्भवती महिला से भी मारपीट की। पुलिस ने इस मामले में कई के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। छात्रों के गुस्‍से का शिकार बनीं कई गाड़ियों में काफी ज्‍यादा डैमेज हुआ है। राहगीरों को काफी नुकसान हुआ है। 

गौरतलब है कि मैट्रिक परीक्षा के तीसरे दिन शुक्रवार को पहली पाली में सामाजिक विज्ञान की परीक्षा का पर्चा लीक हो गया। सुबह आठ बजे से ही यूट्युब चैनल और वाट्सएप ग्रुप पर परीक्षा का प्रश्नपत्र वायरल हो गया। परीक्षा केंद्र पहुंचे परीक्षार्थी एक-दूसरे के मोबाइल से परीक्षा के प्रश्नपत्र देखते और उसके उतर पर चर्चा करते दिखे। लेकिन इस दौरान कई छात्रों का कहना था कि ऐसे प्रश्न प्रत्येक दिन वायरल हो रहा हैं, हो सकता है कि ये सवाल परीक्षा में न आए। लेकिन परीक्षा हॉल में जब छात्र पहुंचे वायरल प्रश्नपत्र ही देखा। परीक्षार्थियों ने बताया कि वायरल प्रश्नपत्र ही परीक्षा में आया था। वहीं वायरल प्रश्नपत्र से मिलाने करने पर सामाजिक विज्ञान में पूछे गए सभी विषयों मसलन राजनीति शास्त्र, आपदा प्रबंधन, भूगोल, अर्थशास्त्र आदि विषयों के प्रश्न वायरल प्रश्नपत्र से मैच हुए।

8 मार्च को दोबारा होगी परीक्षा
बिहार बोर्ड ने शुक्रवार को आयोजित मैट्रिक परीक्षा के सामाजिक विज्ञान विषय की प्रथम पाली की परीक्षा को रद्द कर दिया है। अब यह परीक्षा दोबारा आठ मार्च को आयोजित की जाएगी। इसकी जानकारी बिहार बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने दी। उन्होंने बताया कि सामाजिक विज्ञान के प्रथम पाली में आठ लाख 46 हजार 504 परीक्षार्थी शामिल हुए थे। अब इनकी परीक्षा आठ मार्च को दोबारा ली जाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।