Breaking News

दस सूत्री मांगों को लेकर मनरेगा मजदूरों ने प्रखण्ड मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन।



अमनौर- मनरेगा कार्य को जेसीवी और ट्रैक्टर की सहायता से  करने एवं फर्जी रूप से मास्टर रोल तैयार कर पैसा बंदरबाट करने के बिरुद्ध भाकपा माले के तत्वधान में मनरेगा मजदूरों ने प्रखण्ड मुख्यायल के समक्ष रोषपूर्ण रूप से धरना प्रदर्शन किया।गुरुवार को माले नेता जनार्धन शर्मा एवम मनरेगा मजदुर साभा के अध्यक्ष जीवनन्दन राय के नेतृत्व में सैकड़ो मनरेगा मजदूरों का काफिला धरहरा से चलकर मुख्यालय पहुचे,सभी हाथो में माले के झंडा बैनर लिए हुए थे सरकार के बिरुद्ध नारा लगा रहे थे।मुख्यालय पहुचकर सरकार के बिरुद्ध प्रदर्शन किया,इसके पश्चात भीड़ साभा में बदल गई।प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि गरीब असहाय मनरेगा मजदूरों का सरकार और उनके अधिकारी  शोषण करती है।सरकार के कार्य को ट्रैक्टर व जेसीवी से कराया जाता है,इनके फर्जी मास्टर रोल तैयार कर पैसा उठा लिया जाता है।इसकी जांच की मांग किया।मनरेगा कर्मियों को निर्माण श्रमिक के भांति निबंधित किया जाय,इन्हें नियमित काम दिया जाय, मनरेगा को कृषि से जोड़कर दो सौ दिन काम और 500 रुपये मजदूरी देने की मांग किया।इसके साथ बाढ़ पीड़ितों को जीआर की राशि भुगतान करने राशन कार्ड से वंचित गरीबो को राशन कार्ड निर्गत करने की मांग कर रहे थे।जिला सदस्य बिजेंद्र मिश्रा ने कहा कि राज्य के मजदूर असहायों ने काम के लिए दर दर भटक रहे है,महंगाई चरम पर है,अफसर शाही हावी हैं, जिससे बिहार में आराजकता की स्थित उतपन्न हो गई।मनरेगा नेता जीवनन्दन राय ने कहा कि गरीब मजदुरो की मजदूरी,उनके काम को जिनके राज्य में लूट लिया जाता हो इससे बड़ी अपराध और क्या हो सकता है।इनके शिष्टमण्डल ने बीडीओ से मिलकर अपनी मांगों का ज्ञापन सौपी,इस दौरान मीना देवी,सीता देवी,केसिया देवी,उषा देवी,लक्ष्मीना देवी,ब्लाकेशिय देवी,देवमुनि देवी,अंजोरिया देवी,चमुन्ना देवी समेत सैकड़ो महिला पुरुष शामिल थे।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।