Breaking News

Bihar Crime: प्रोफेसर के खाते से नाती ने ही 1.78 लाख की अवैध निकासी की, मोबाइल खरीदने और मौज मस्ती में कर दिया खर्च

 


तिलकामांझी विश्वविद्यालय के मैथिली विभागाध्यक्ष प्रोफेसर शिव प्रसाद यादव के बैंक खाते 1.78 लाख रुपये की अवैध निकासी करने वाला उनका नाती ही निकला। इस मामले में विश्वविद्याल पुलिस ने प्रोफेसर के नाती सुधांशु शेखर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। प्रोफेसर यादव ने दो फरवरी को विवि थाना में केस दर्ज कराया था। सुधांशु पार्ट वन का छात्र है।

पेटीएम ने भेजी जानकारी तो मामले का हुआ खुलासा 
 विवि थाना क्षेत्र के साहेबगंज स्थित आदर्श कॉलोनी में रहने वाले प्रोफेसर शिव प्रसाद यादव ने पुलिस को बताया था कि उनके बैंक खाते से 10 दिसंबर 2020 से 28 जनवरी 2021 के बीच पेटीएम के माध्यम से 1.78 लाख की अवैध निकासी कर ली गई। पुलिस ने पेटीएम से जानकारी मांगी थी। पेटीएम द्वारा दी गई जानकारी में पता चला कि जिस मोबाइल नम्बर का इस्तेमाल कर पैसे निकाले गए वह सुधांशु का था। किसी भनक नहीं लगे इसलिए नाती ने साइबर ठगी का आवेदन लिखा था। 


मोबाइल खरीदने और मौज मस्ती में कर दिया खर्च 
पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद सुधांशु ने पुलिस को बताया कि नाना के खाते से पैसे की अवैध निकासी कर उस पैसे से उसने ऑनलाइन मोबाइल ऑर्डर किया है। होटल और रेस्टोरेंट में भी पैसे उड़ाने की बात उसने पुलिस को बताई है। प्रोफेसर यादव ने पुलिस को बताया था कि नौ दिसंबर को खलीफाबाग चौक के पास एक कपड़े के शोरूम से खरीदारी करने के बाद अगले दिन से ही उनके खाते से पैसे की निकासी होने लगी। थानाध्यक्ष ने बताया कि नाती का नाम आने से प्रोफेसर भी आश्चर्य में पड़ गये। विवि थानाध्यक्ष श्रीकांत चौहान ने बताया कि प्रोफेसर के नाती की संलिप्तता सामने आने पर उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।


कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।