Breaking News

जिले में 17 फ़रवरी से 3 मार्च तक आयोजित होगा आयुष्मान पखवाड़ा

 



-पखवाड़े के दौरान पात्र लाभार्थियों को निर्गत होगा गोल्डन कार्ड, वर्ष में 5 लाख रूपये तक की  निःशुल्क चिकित्सा का प्रावधान 

-अतिरिक्त जिलाधिकारी ने मीडिया ब्रीफिंग कर आयुष्मान भारत योजना के बारे में बताया।


किशनगंज , 11  फ़रवरी |

अतिरिक्त जिलाधिकारी ब्रजेश कुमार  की अध्यक्षता में प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना अंतर्गत गोल्डन कार्ड बनाये जाने के सम्बन्ध में गुरुवार को समाहरणालय सभा कक्ष में मीडिया कार्यशाला का आयोजन किया गया  |  मीडिया कार्यशाला की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी ने आयुष्मान भारत के नोडल पदाधिकारी अन्य अधिकारीयों को निर्देश दिया कि योजना के अंतर्गत जिले के गरीब, वंचित ग्रामीण परिवारों और शहरी श्रमिकों के परिवारों के चिह्नित कैटेगरी के चयनित लाभार्थियों का विशेष अभियान चलाकर गोल्डन कार्ड बनाना सुनिश्चित करें | उन्होंने कहा कि आगामी 17 फ़रवरी से 3 मार्च तक जिले में आयुष्मान पखवाड़ा का आयोजन होना है | पखवाड़ा के दौरान पंचायत कार्यपालक सहायक के द्वारा पंचायत स्तर पर विशेष शिविर के माध्यम से गोल्डन कार्ड बनाने एवं वितरण करने का कार्य किया जायेगा | अतिरिक्त जिलाधिकारी ने बैठक में उपस्थित अधिकारियों को आयुष्मान योजना के तहत कम से कम 50 प्रतिशत लक्ष्य पखवाड़ा के माध्यम से प्राप्त करने का निदेश दिया |

लाभार्थियों को वर्ष में 5 लाख रुपये तक की निःशुल्क चिकित्सा की सुविधा -

अतिरिक्त जिलाधिकारी ब्रजेश कुमार ने बताया कि आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का क्रियान्वयन पत्र लाभार्थियों को वर्ष में 5 लाख रुरूपये तक की का निःशुल्क चिकित्सा प्रदान करने के लिए किया जा रहा है | योजना के सम्पूर्ण क्रियान्वयन के लिए आवश्यक है कि सभी पात्र लाभार्थियों को योजना से सम्बंधित गोल्डन कार्ड निर्माण कर उपलब्ध करायी जाये | जिले में निर्गत गोल्डन कार्ड का प्रतिशत काफी कम है| अतः पात्र लाभार्थियों को आयुष्मान पखवाड़ा के तहत 17 फ़रवरी से 3 मार्च तक आयोजित विशेष शिविर चलाकर गोल्डन कार्ड उपलब्ध कराया जायेगा | 


आयुष्मान पखवाड़ा के आयोजन के लिए सभी आवश्यक एवं लक्ष्य प्राप्ति के लिए सूक्ष्म कार्ययोजना तैयारी का दिया गया निर्देश –


अतिरिक्त जिलाधिकारी ब्रजेश कुमार ने आयुष्मान पखवाड़े के सफलतापूर्वक आयोजन ना के लिए कार्यशाला में उपस्थित अधिकारिरीयों को आवश्यक निर्देश दिया | उन्होंने शिविर के आयोजन के लिए हेतु प्रचार प्रसार, पात्र लाभार्थियों की सूची का मुद्रीकरण, शिविर आयोजन के लिए माइक्रो प्लान तैयार करना, ई-कार्ड का निर्माण एवं वितरण आदि के सम्बन्ध में समीक्षा की एवं इससे सम्बंधित आवश्यक तैयारी का निर्देश दिया | उन्होंने कहा कि पखवाड़े के दौरान आयोजित शिविरों में पत्र लाभार्थी परिवार के सदस्यों को वार्ड सदस्य के सहयोग से जागरूक मोबिलाइज किया जायेगा | ज्ञात को कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना अंतर्गत गोल्डन कार्ड के लक्ष्य प्राप्ति के लिए आयोजित होने वाले पखवाड़ा के लिए सूक्ष्म कार्य योजना तैयार किया जाना है | जिसमें मे पखवाड़े से सम्बद्ध सभी हितग्राही यथा जीविका, पंचायती राज के प्रतिनिधियों एवं स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियों/प्रतिनिधियों को शामिल करते हुए कार्ययोजना तैयार किया जाना है | जिलाधिकारी ने कहा कि जिले में 2011 के सोशियो इकनॉमिक एंड ऐंड कास्ट सेंसस (SECC) के अनुसार कुल 2,17,430 परिवारों को गोल्डन कार्ड देने का लक्ष्य है तथा वर्तमान में कुल 73788  परिवारों को गोल्डन कार्ड उपलब्ध करा दिया गया है । आयुष्मान पखवाड़ा आयोजित किये जाने एवं ई-कार्ड निर्गत किये जाने से सम्बंधित गतिविधि में किसी प्रकार की कठिनाई नहीं हो इसके लिए निर्वाचन कार्य की भांति ग्राम पंचायत एवं वार्डवार माइक्रो प्लान सम्बंधित प्रखंड विकास पदाधिकारी द्वारा तैयार किया जायेगा | आयुष्मान पखवाड़ा के दौरान योजना का लाभ सबंधित लाभुक को मिलना सुनिश्चित हो इसके लिए माइक्रो प्लान के आधार पर कार्य करने का निर्देश अतिरिक्त जिलाधिकारी द्वारा दिया गया |


गोल्डन कार्ड बनाने एवं इसे प्राप्त करने के लिए पात्र लाभार्थी को लाना होगा निम्न दस्तावेज –

- व्यक्ति पहचान हेतु आधार कार्ड/ आधार नंबर तथा

- पारिवारिक सदस्यता सत्यापन के लिए राशन कार्ड अथवा प्रधानमंत्री द्वारा प्रेषित पत्र 


आयुष्मान पखवाड़े के दौरान पत्र लाभार्थियों का सत्यापन होगा एवं ई-कार्ड सृजित करने का ऑनलाइन निवेदन प्रेषित होगा| जिसे राज्य स्तर के अधिकारी द्वारा अनुमोदित किया जायेगा | अनुमोदन के पश्चात् ही गोल्डन कार्ड बनेगा | गोल्डन कार्ड का वितरण पंचायत सरकार भवन, आर.टी.पी.एस. पटल आदि के माध्यम से किया जायेगा | गोल्डन कार्ड वितरण में पंचायत के प्रतिनिधि एवं आशा / एएनएम का सहयोग लिया जायेगा | 


  मीडिया कार्यशाला में जिले के सिविल सर्जन डॉक्टर श्री नंदन ,जिला कार्यक्रम प्रबंधक डॉ मुनाजिम ,जिला कार्यक्रम समन्वयक विश्वजीत विस्वाजीत कुमार , आयुष्मान भारत के जिला  आई.टी. प्रबंधक प्रबधक  अजित कुमार तथा वी सी के माध्यम से जिला के  सभी प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी एवम् प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी,    एवं जीविका और के  स्वास्थ्य विभाग के सभी अधिकारिरीयों व ओर कर्मियों ने भाग लिया |

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।