Breaking News

आईसीडीएस पंजीकृत लाभार्थियों को टीकाकरण सुनिश्चित करने के लिए 06 फरवरी तक का दिया गया है समय

 



-आईसीडीएस डीपीओ ने ज़िले के विभिन्न केंद्रों पर भ्रमण कर किया टीकाकरण का निरीक्षण

- टीकाकरण के लिए सभी को जागरूक कर रही हैं सीडीपीओ

-समय रहते हर कर किसी को कराना चाहिए टीकाकरण

-टीकाकरण में किसी को नही हुई कोई परेशानी, कुछ समय बाद ही सभी सामान्य कार्यों में लौटे


पूर्णिया, 04 फरवरी|

जिले में वैश्विक महामारी कोविड-19 टीकाकरण के लिए 15 सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों सहित एक निजी नर्सिंग होम को टीकाकरण स्थल बनाया गया है। जिसमें सभी टीकाकरण केंद्रों पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोविन पोर्टल पर पंजीकृत जिले के सभी स्वास्थ्य कर्मियों व आईसीडीएसकर्मियों का टीकाकरण इन्हीं सत्र स्थलों के माध्यम से किया जा रहा है। पंजीकृत लाभार्थियों का शत-प्रतिशत टीकाकरण सुनिश्चित करने के लिए 06 फरवरी तक का समय दिया गया है। उस समय तक सभी आईसीडीएसकर्मियों को टीका लेने का निर्देश आईसीडीएसडीपीओ शोभा सिन्हा द्वारा जारी किया गया है। इसके साथ ही डीपीओ द्वारा विभिन्न टीकाकरण स्थलों का दौरा कर आईसीडीएसकर्मियों के टीका लेने का निरीक्षण किया जा रहा है।


आईसीडीएसडीपीओ ने ज़िले के विभिन्न केंद्रों पर भ्रमण कर किया टीकाकरण का निरीक्षण :

आईसीडीएस की ज़िला कार्यक्रम पदाधिकारी शोभा सिन्हा द्वारा कसबा प्रखंड के टीकाकरण स्थल का निरीक्षण किया गया| जहां उन्होंने विभिन्न आईसीडीएसकर्मियों के टीका लेने की जानकारी ली। उन्होंने बताया कि जिले के सभी टीकाकरण केंद्रों पर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों, स्वास्थ्यकर्मियों, सफ़ाई कर्मचारियों का टीकाकरण किया जा रहा है। साथ ही आईसीडीएस से जुड़े सभी बाल विकास परियोजना पदाधिकारी, महिला पर्यवेक्षिका, सेविका व सहायिका कोविड का टीका लेने के लिए सेंटरों पर उत्साह के साथ निर्भीक होकर पहुंच रहे है। पहले चरण में वैसे लोगों को ही टीका लग रहा जिनका पंजीकरण पहले किया जा चुका है। सभी टीकाकरण केंद्रों पर टीकाकरण के बाद आब्जर्वेशन रूम में बैठाया जा रहा है। उन्हें आधा घंटा देखने के बाद घर जाने दिया जा रहा है। टीकाकरण स्थल पर 3 कक्ष बनाये गए हैं । जिनमें पहला कक्ष लाभार्थियों को टीका लेने के लिए वेटिंग एरिया, दूसरा कक्ष टीकाकरण के लिए एवं तीसरा कक्ष टीकाकरण के पश्चात आधा घण्टा तक लाभार्थियों की निगरानी के लिए बनाया गया है। जहां पर पर्याप्त मात्रा में बैठने के कुर्सी एवं बेड की व्यवस्था स्वास्थ्य विभाग की ओर से की गई है । निरीक्षण के दौरान उनके साथ पोषण अभियान की जिला समन्यवक निधि प्रिया, कसबा सीडीपीओ मीरा कुमारी व अन्य अन्यआईसीडीएस कर्मी भी उपस्थित रहे।


पूरी निर्भीकता के साथ कराएं टीकाकरण: सीडीपीओ

कोविड-19 टीकाकरण के प्रति सभी आईसीडीएसकर्मियों को बैसा प्रखण्ड की बाल विकास परियोजना पदाधिकारी (सीडीपीओ) मंजू कुमारी द्वारा नियमित जागरूक किया जा रहा है। इस सम्बंध में सीडीपीओ मंजू कुमारी ने बताया कि कोविड-19 वैक्सीन को लेकर कोई भी अपने मन में किसी तरह का भ्रम नहीं पालें एवं अफवाहों से दूर रहें। क्योंकि, वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है। इसलिए, पूरी निर्भीकता के साथ आईसीडीएस से जुड़े महिला पर्यवेक्षिका, आंगनबाड़ी सेविका व सहायिका सभी लोग अपने नियत समय पर टीकाकरण केंद्र पहुंच कर वैक्सीनेशन कराएं। वैक्सीनेशन के दौरान सुरक्षा के सभी मापदंडों का ख्याल रखा जा रहा है। ताकि, लोगों को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं हो। इसके अलावा  वैक्सीनेशन सेंटर पर सुरक्षा के मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग के द्वारा पुख्ता इंतजाम किया है  एवं कोविड-19 के गाइडलाइन के अनुसार सभी तरह से अनुपालन सुनिश्चित रूप से कराया जा रहा है। 


समय रहते हर कर किसी को टीकाकरण कराना चाहिए: नीतू कुमारी

बैसा प्रखंड के मालोपाड़ा पंचायत अंतर्गत जहीर टोला गढ़महली मुहल्ला स्थित आंगनबाड़ी केंद्र संख्या 156 की आंगनबाड़ी सेविका नीतू कुमारी ने बताया  कोरोना का टीका लगाना मेरे लिए गौरव का पल है | जीवन का सबसे अनमोल दिन होने के कारण एक सुखद अनुभूति का एहसास भी हो रहा है | क्योंकि कोरोना काल के दौरान आंगनबाड़ी केंद्र बंद होने के बावजूद पूरी निष्ठा के साथ पोषक क्षेत्र में डोर टू डोर भ्रमण कर हर किसी को संक्रमण से बचाव व मुक्ति के लिए सभी लोगों को जागरूक भी करते थे। गर्भवती माताओं की  देखभाल, टीएचआर, नवजात शिशुओं का नियमित रूप से टीकाकरण कराना, अन्नप्राशन, गोद भराई सहित कई अन्य कार्यो को भी अपनी सुरक्षा के साथ ही कोरोना काल में आने वाले ग्रामीणों की जानकारी लेने का भी काम किया गया है । कोविड के दौरान प्रतिदिन पोषण क्षेत्र में भ्रमण करना पड़ता था। कोविड के समय में जब भी अपने घर से निकलती थी तो मुझे तथा मेरे परिवार  वालों को चिंता सताए रहती थी। मुझे भी कोरोना संक्रमण का डर लगा रहता था। इसके बावजूद भी काम करने से कभी पीछे नही रहती थी। नीतू ने बताया कोविड-19 का टीका कब तक आएगा इसी का इंतज़ार रहता था और जब आ गया है  तो फ़िर टीकाकरण कराने से डर क्यों लगेगा। टीका लगने के बाद आधा घण्टे तक वहीं पर रुकी रही| उसके बाद फिर अपने कार्यो में लग गई। मुझे किसी तरह से कोई दिक्कत नहीं हुई है। पूरी तरह से सामान्य हो गई हूं। 

टीकाकरण में किसी को नहीं  है कोई परेशानी, कुछ समय बाद ही सामान्य कार्यों लौट सकते हैं सभी  : विभा कुमारी

बैसा प्रखंड के कंजिया गांव स्थित आंगनबाड़ी केंद्र संख्या 62 की सेविका विभा कुमारी ने कोविड-19 टीकाकरण कराने के बाद कहा कोविड का टीका लेना अपने आप में एक सुखद अनुभव का एहसास दिलाने जैसा है| क्योंकि जिसका इंतज़ार बेसब्री के साथ विगत कई महीनों से हम जैसे लाखों करोड़ों लोग कर रहे थे जब यह घड़ी आ गई है  तो फ़िर टीका लेने से परहेज क्यों करेंगे। प्रखंड मुख्यालय स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में कोविड-19 का टीकाकरण कराने के लिए जब घर से निकली तो पति के साथ बेटी व अपने परिजनों को कॉल कर सभी को सूचना दी थी कि  आज मुझें टीका लेने के लिए जाना है| सभी लोग ने मुझे सांत्वना देते हुए कहा कि टीका लेने के बाद वहीं  कम से कम आधा घण्टा रुके रहना| उसके बाद हमलोगों को फोन कर सूचना भी देना| ताकि हमलोग पूरी तरह आश्वस्त हो जाएंगे कि किसी तरह से कोई परेशानी नही हुई है । टीका लेने के तुरंत बाद छोटी बेटी जो घर पर थी और दूसरी बेटी किशनगंज में रहकर पढ़ाई करती है  और मेरे पति रोजी रोजगार के लिए असम में रहते हैं , इन सभी को एक साथ व्हाट्सएप पर वीडियो कॉलिंग कर के सभी से बातचीत कर टीकाकरण कराये जाने की जानकारी दी। एक साथ सभी के साथ बातचीत करना और कोरोना का टीकाकरण की सूचना देना बहुत ज़्यादा ख़ुशी का माहौल जैसा लग रहा था। हम सभी को टीकाकरण कराना चाहिए क्योंकि किसी भी तरह से कोई परेशानी नहीं  है।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।