Breaking News

बिहार: DGP ने सभी जिलों की पुलिस को सौंपा टास्क, हत्या के आरोपितों की हर हाल में हो गिरफ्तारी

 


हत्या की घटनाओं में शामिल आरोपितों की गिरफ्तारी हर हाल में सुनिश्चित करनी होगी। इसके लिए विशेष अभियान शुरू किया गया है। डीजीपी एसके सिंघल ने सभी जिलों के एसएसपी और एसपी को हत्या के आरोपितों की गिरफ्तारी सुनिश्चित करने का टास्क सौंपा है। इसमें 40 जिलों (नवगछिया व बगहा पुलिस जिला) के साथ ही बिहार के चार रेल जिला पुलिस भी शामिल हैं। 

अपराध के मुख्य शीर्ष जिसमें हत्या, लूट, डकैती, बलात्कार समेत कई अन्य अपराध आते हैं उसमें शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी की पुलिस मुख्यालय अक्सर समीक्षा करता है। पिछले दिनों अक्टूबर, नवम्बर और दिसम्बर 2020 की संगीन आपराधिक घटनाओं में गिरफ्तारी की समीक्षा की गई। इसके बाद डीजीपी ने हत्या की तमाम लंबित मामलों में गिरफ्तारी सुनिश्चित करने का आदेश सभी जिला पुलिस को दिया है। इस बाबत उनकी ओर से आदेश जारी कर दिए गए हैं। 

विशेष अभियान चलाने को कहा
हत्या जैसे गंभीर आपराधिक मामलों की गिरफ्तारी के लिए डीजीपी ने विशेष अभियान चलाने का आदेश दिया है। सभी एसएसपी और एसपी को लिखे पत्र में उन्होंने हत्या के कांडों में फरार अपराधियों की गिरफ्तारी को हर हाल में सुनिश्चित करने को कहा है। जरूरी हुआ तो जिला स्तर पर इसके लिए विशेष टीम भी बनाया जाएगा।

सर्वोच्च प्राथमिकता में रखना होगा
डीजीपी द्वारा दिए गए आदेश में जिला पुलिस को हत्या के वांछित अपराधियों की गिरफ्तारी को सर्वोच्च प्राथमिकता देने को कहा गया है। जिलों के एसएसपी और एसपी यह सुनिश्चित करेंगे कि हत्या आरोपितों की गिरफ्तारी हर हाल में हो। माना जा रहा है कि जनवरी के बाद दोबारा डीजीपी के स्तर से गिरफ्तारी की समीक्षा की जाएगी। इस दौरान किस जिले में कितनी गिरफ्तारी हुई यह देखा जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।